GumlaJharkhandLead NewsNEWS

गुमला में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के शीर्ष कमांडर की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

Gumla: गुमला जिले में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के शीर्ष कमांडर की गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना जिले घाघरा थाना क्षेत्र के लावादाग में हुई है. जहां जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के शीर्ष कमांडर शुकर उरांव की गोली मार कर अज्ञात अपराधियों ने हत्या कर दी. हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई है. हत्या के कारणों का फिलहाल खुलास नहीं हुआ है. पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेते हुए छानबीन में जुटी हुई है.

Advt

इसे भी पढ़ेंःअब केंद्र सरकार के साथ मिल कर जेबीवीएनएल लगायेगा बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं पर लगाम

घटनास्थल से पुलिस ने गोली के खोखे बरामद किये हैं. बहरहाल, घटना को लेकर क्षेत्र में दहशत का माहौल है. यहां बताते चलें कि शीर्ष कमांडर शुकर उरांव कुख्यात नक्सली था और गुमला के अलावा घाघरा, बिशुनपुर, लोहरदगा के सेन्हा सहित कई थाना क्षेत्रों में आतंक का पर्याय था. नक्सली के मारे जाने से जहां एक ओर लोगों ने राहत की सांस ली है.वहीं अब तक इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि नक्सली की गोली मारकर हत्या किसके द्वारा की गई है. नक्सली की हत्या को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है. रविवार की सुबह स्थानीय लोगों ने लावादाग स्थित एक मैदान में एक युवक का शव देखा जिसकी सर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी युवक की पहचान जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के शीर्ष कमांडर शुकर उरांव के रूप में हुई. इसके बाद स्थानीय लोगों के द्वारा घटना की जानकारी पुलिस को दी गई मौके पर पुलिस पहुंच कर मामले की जांच कर रही है इस मामले में आशंका जताई जा रही है कि शुकर उरांव की आपसी विवाद में गोली मारकर हत्या की गई.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में तैयार हो रही 17 विभागों की संशोधित नियुक्ति नियमावली, जल्द ली जायेगी सरकार से मंजूरी

Advt

Related Articles

Back to top button