Education & CareerJharkhandRanchiTOP SLIDER

इंतज़ार ख़त्म, सोमवार से राज्य के सभी आवासीय विद्यालयों में चलेंगी कक्षाएं

कक्षा 10वीं और 12वीं की होनी है कक्षाएं, स्कूल खुलने के पूर्व विभाग ने लिया तैयारियों का जायजा

Ranchi: राज्य के आवासीय विद्यालयों में 10वीं और 12वीं की कक्षाएं सोमवार से शुरू हो जाएंगी. राज्य के  नेतरहाट आवासीय विद्यालय, इंदिरा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय समेत कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय खोलने की तैयारी पूरी हो गयी है. इन स्कूलों में 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं को बुलाया गया है. कोविड-19 के मानकों का पालन करते हुए उन्हें पढ़ाने के साथ-साथ रहने, खाने-पीने की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी. स्कूलों के कमरों, हॉस्टल व कैंपस को सैनिटाइज और वहां विशेष साफ सफाई की गई है

राज्य में 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए 21 दिसंबर से ही 2337 हाई और प्लस टू स्कूल खोल दिए गए थे. इसके बाद में चार जनवरी से कल्याण विभाग के 69 आवासीय विद्यालयों को 10वीं और 12वीं के छात्र छात्राओं के लिए खोला गया. अब स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग के 262 आवासीय विद्यालयों को  मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा को देखते हुए खोला जा रहा है. नेतरहाट आवासीय विद्यालय लातेहार, इंदिरा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय हजारीबाग, 203 कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय और 57 झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय  सोमवार से  खुल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – लातेहार: नक्सलियों के बारूदी सुरंग का शिकार हुई महिला का शव 22 घंटे बाद निकाला गया जंगल से बाहर

सभी आवासीय विद्यालयों ने अपनी अपनी ओर से तैयारियां पूरी कर ली है. आवासीय विद्यालय की  संचालन में सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन किया जाएगा. इसमें छात्र-छात्रा सबसे पहले शपथ पत्र देंगे कि उनके परिवार में  किसी को कोरोना नहीं है, ना ही वे कंटेनमेंट जोन से आ रहे हैं और ना किसी कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए हैं.

विद्यालयों की सफाई, सैनिटाइजेशन, शौचालय पेयजल की व्यवस्था, क्लास में पढ़ने और हॉस्टल में रहने  में सामाजिक दूरी, साबुन और हैंड वॉश की व्यवस्था सुनिश्चित हो. किसी छात्र या छात्रा की तबीयत खराब होने पर तत्काल स्थानीय  स्वास्थ्य केंद्र और प्रशासन को इसकी सूचना देनी होगी.

शारीरिक दूरी का ख्याल रखा जाए इसके लिए क्लास में 2 छात्रों के बीच छह फीट की दूरी बनाए रखी जायेगी. स्कूलों में भी शिक्षक पहुंचने लगे हैं. उन्हें भी कोविड-19 के गाइडलाइन का ख्याल रखते हुए कक्षा लेने का सलाह दिया गया.

विद्यालय में बालिकाओं के लिए कोविड-19 के तहत दिए गए दिशा निर्देश का अक्षरशः पालन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ड वाड्रा की बढ़ीं मुश्किलें, ईडी ने कसा शिकंजा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: