Crime NewsJharkhandLatehar

लातेहार: नक्सलियों के बारूदी सुरंग का शिकार हुई महिला का शव 22 घंटे बाद निकाला गया जंगल से बाहर

क्षत विक्षत होने के कारण शव की पहचान में हो रही थी मुश्किल

Palamu/Latehar: पलामू प्रमंडल के लातेहार जिले के गारू थाना क्षेत्र में शनिवार को नक्सलियों के द्वारा बिछाए गए बारूदी सुरंग विस्फोट में उड़ी महिला का शव घटना के 22 घंटे बाद जंगल से बरामद किया गया. क्षत-विक्षत होने के कारण शव की पहचान नहीं हो पा रही थी. शरीर के एक-एक अंग को जुटाकर जंगल से बाहर निकाला गया और फिर उसका दाह संस्कार किया गया.

पूरे इलाके में लैंड माइंस लगे होने की सूचना के बाद सुरक्षा बलों के विशषज्ञों ने पहले लैंड माइंस का पता लगाया और तब ग्रामीणों को जंगल में प्रवेश की अनुमति दी.

मृत महिला के पुत्र और अन्य रिश्तेदार बुरी तरह से क्षत विक्षत शव को बांस के स्ट्रेचर में लादकर जंगल से बाहर निकाल कर लाये और कबरी पिकेट तक पहुंचाया. शव गोप खाड़ में उनके घर से दो किमी ऊपर एक पहाड़ी पर था. बाद में सुरक्षा बलों ने शव को कब्जे में ले पोस्टमॉर्टम के लिए लातेहार भेज दिया.

विदित हो कि सांझो देवी उन सात महिलाओं की समूह में शामिल थीं जो गाँव में एक पार्टी के लिए पत्तल बनाने के लिए पत्ते लाने के लिए शनिवार की सुबह जंगल में गई हुई थीं और दस बजे के लगभग विस्फोट की चपेट में आ गई थीं. इस हादसे में एक अन्य महिला घायल हुई थी. गारू में इलाजरत अन्य महिलाओं की स्थिति ठीक बताई जा रही है.

उधर, रविवार को भी जोरदार विस्फोट की आवाज़ से क्षेत्र दहल उठा. माना जा रहा है कि सुरक्षा बलों ने माओवादियों के लगाए कई बारूदी सुरंगों को निष्क्रिय किया है.

इस घटना के बाद गांव के लोगों में भारी दहशत है. ग्रामीणों ने कहा कि जंगल में प्रवेश किए बिना हम कैसे जियेंगे. जंगल हमारा जीवन है. हमें जंगल से सब कुछ मिलता है. हमारे मवेशी जंगल पर निर्भर हैं. यह हमारी आजीविका का एकमात्र स्रोत है.

इस बीच, भाकपा (माओवादियों) के खिलाफ पुलिस का अभियान लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), झारखंड जगुआर (जेजे) और जिला सशस्त्र पुलिस कर्मियों की कई टीमों को नक्सलियों के खिलाफ बड़े अभियान के लिए तैनात किया गया है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: