GiridihJharkhand

प्रशांत और उसकी पत्नी शीला की गिरफ्तारी के विरोध में नक्सली संगठन ने 27 जनवरी को किया झारखंड-बिहार बंद की घोषणा

Giridih : किसान दा उर्फ प्रशांत बोस और उसकी पत्नी शीला दी के गिरफ्तारी के खिलाफ प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने 27 जनवरी को झारखंड-बिहार बंद का आह्वान किया है. इसकी जानकारी नक्सली संगठन माओवादी के दोनों राज्य के स्पेशल एरिया कमेटी के प्रवक्ता आजाद ने प्रेस बयान जारी कर दी है. एरिया कमेटी के प्रवक्ता आजाद ने जानकारी दी कि झारखंड-बिहार में 21 से 26 जनवरी तक संगठन प्रतिरोध दिवस मनाएगा. तो 27 जनवरी को दोनों राज्यों में नक्सली बंदी रहेगा.

प्रवक्ता आजाद ने कहा कि प्रशांत बोस और शीला दी की गिरफ्तारी के बाद दोनों का स्वास्थ लगातार गिरता जा रहा है. इसके बाद भी सरकार द्वारा दोनों को कोई स्वास्थ सुविधा पूर्वी सिंहभूम के जेल में नहीं दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें:बिहार में 3.5 लाख नियोजित शिक्षकों की 27 जनवरी से शिक्षक अपनी सैलरी स्लिप कर सकेंगे जेनरेट

जबकि दोनों गंभीर बीमारियों से पीड़ित है. इसके बाद भी दोनों के स्वास्थ को लेकर सरकार की और से लापरवाही बरती जा रही है. प्रवक्ता आजाद ने कहा कि दोनों ने संगठन में रहते हुए किसानों, मजदूरों और शोषितों के खिलाफ लड़ाई लड़ी.

इतना ही नही शीला दी ने दहेज प्रथा, बाल विवाह, नशाखोरी समेत कई कुरीतियों के खिलाफ समाज के बीच रहकर संघर्ष किया. इसके बाद भी दोनों को पुलिस नक्सली मानते हुए दो माह पहले पूर्वी सिंहभूम के इलाके से गिरफ्तार किया था.

लिहाजा, संगठन दोनों की भूमिका को महत्पूर्ण मानता है और गिरफ्तारी का विरोध व जेल में स्वास्थ सुविधा नहीं मिलने के विरोध में झारखंड-बिहार में 27 जनवरी को बंद का आह्वान किया है.

इसे भी पढ़ें:पेट्रोल सब्सिडी के लिए ऐप लांच, जानिए कैसे ले सकते हैं लाभ

Advt

Related Articles

Back to top button