न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा व महाधिवक्ता बतायें, सरयू राय को तथ्यों की जानकारी है या नहीं: झाविमो

शाह ब्रदर्स माइनिंग लीज मामला

229

Ranchi: शाह ब्रदर्स के माइनिंग लीज मामले में एकमुश्त क्षतिपूर्ति को लेकर भाजपा के वरिष्ठ मंत्री सरयू राय द्वारा महाधिवक्ता व सरकार की भूमिका पर सवाल उठाये जाने का झाविमो ने स्वागत किया है. झाविमो ने कहा है कि हमेशा की भांति कम-से-कम सरयू राय ने तो गलत को गलत कहने की दिलेरी दिखायी. झाविमो के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने भाजपा व महाधिवक्ता से पूछा है कि सरयू राय जी के सवाल पर आपलोगों का बहुमूल्य राय क्या है. महाधिवक्ता व भाजपा बतलाये कि सरयू राय जी को तमाम तथ्यों की जानकारी है या नहीं? बाबूलाल जी द्वारा इस मामले में आईना दिखाने पर जिस प्रकार भाजपा व महाधिवक्ता ने कहा कि बाबूलाल जी को जानकारी नहीं है. अब उसी बेबाकी से सरयू राय पर भी भाजपा व महाधिवक्ता को अपनी राय सार्वजनिक करनी चाहिए. अगर भाजपा की नजर में बाबूलाल गलत आरोप लगा रहे हैं तो सरयू राय का आरोप भी जाहिर तौर पर गलत ही होगा क्योंकि उन्होंने बाबूलाल जी की बातों को ही दुहराया है.

इसे भी पढ़ें – राज्य में आईएएस अफसरों का टोटा, पहले से 43 कम, 2019 तक रिटायर हो जायेंगे 27 और अफसर

सच से पर्दा हटायें महाधिवक्ताः योगेंद्र

भाजपा द्वारा इस मसले पर बयान नहीं दिये जाने पर स्पष्ट होगा कि भाजपा अपने पक्ष व विपक्ष को दो अलग-अलग चश्मों से देखती है. वहीं महाधिवक्ता को भी सामने आकर अपनी बातें कहनी चाहिये. उन्‍होंने कहा है कि जहां तक बाबूलाल मरांडी की बात है तो उनकी खासियत है कि वे कोई भी आरोप बगैर सबूत के नहीं लगाते हैं. आरोपों से बचने व दिशा को भटकाने के लिए विभिन्न प्रकार के हथकंडे अपनाना भाजपा सरकार की फितरत रही है. विधायकों को 11 करोड़ में खरीद-फरोख्त के मामले को ही देखिए, बाबूलाल ने पत्र सार्वजनिक कर मामले की सीबीआई जांच की मांग की तो सरकार ने जांच तो दूर उल्टा बाबूलाल पर ही मुकदमा करवा दिया. बहरहाल, झाविमो शाह ब्रदर्स मामले की उच्चस्तरीय जांच व दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग दुहराती है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: