NEWS

सूरज का हुआ था अपहरण,10 लाख फिरौती नहीं देने पर जिंदा जलाया

 Palamu: झारखण्ड के पलामू के रहने वाले नौसेना अधिकारी सूरज कुमार को चेन्नई से अगवा कर पालघर में जिंदा जला दिया गया. सूरज कुमार दुबे को बदमाशों ने चेन्नई एयरपोर्ट के पास से अगवा कर लिया था. इसके बाद उन्हें तीन दिनों तक एक अज्ञात स्थान पर बंधक बनाकर रखा गया. बदमाशों ने नौसेना अधिकारी से 10 लाख की फिरौती मांगी थी, पैसे नहीं मिलने पर अपराधियों ने सूरज कुमार को पालघर वेवजी इलाके के जंगल में ले जाकर उनपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी.

इसे भी पढ़ें:रातू प्रखंड में लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण, ट्रांसजेंडर तथा सेक्सवर्करों को भी मिला योजना का लाभ

इलाज के दौरान हो गई मौत:

ram janam hospital
Catalyst IAS

मौके पर पहुंची पुलिस ने सूरज कुमार को दहानू के उप जिला अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां सूरज ने पुलिस को अपहरण की घटना के बारे में बताया. सूरज की हालत बिगड़ने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें मुंबई रेफर कर दिया. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें:मंत्री बनते ही ट्विटर पर धुआंधार बल्लेबाजी करने लगे हाफिज उल हसन

पुलिस तलाश में जुटी:

महाराष्ट्र के पालघर में एक नौसेना अधिकारी का अपहरण कर बदमाशों ने उसे जिंदा जला दिया. बुरी तरह झुलसे अधिकारी की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है. पुलिस अज्ञात आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश में जुट गई है. पालघर के एसपी दत्तात्रय शिंदे ने बताया कि नौसेना अधिकारी की पहचान सूरज कुमार दुबे (27) के रूप में हुई है, जो झारखंड के पलामू के रहने वाले थे.

इसे भी पढ़ें:कैदियों की करतूत से जेलर व जेल अधीक्षक पर भी नकेल, जेल में नहीं कर सकेंगे मोबाइल से बात

मई में होनी थी शादी, 15 जनवरी को हुई थी सगाई:

पूर्वडीहा के सामाजिक कार्यकर्ता विकास कुमार दुबे ने बताया कि नेवी जवान सूरज कुमार दुबे के निधन की सूचना मिलते ही गांव में शोक की लहर है. सूरज काफी मेधावी था. गत 15 जनवरी को उसकी सगाई हुई थी. मई में उसकी शादी होनी थी. सूरज अपने घर में तीन भाई बहनों में सबसे छोटा था. पिता उसके किसान हैं. भाई भी घर पर रहकर ही काम करता है.

इसे भी पढ़ें:36वीं नेशनल जूनियर एथलेटिक्स चैंपिनशिप के पहले दिन झारखंड को मिला एक गोल्ड मेडल

 

 

Related Articles

Back to top button