न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ईवीएम-वीवीपैट से 100 फीसदी पर्ची मिलान वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज

878

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने ईवीएम के साथ वीवीपीएटी को शत प्रतिशत मिलाए जाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी है.

उच्चतम न्यायालय ने लोकसभा चुनाव के लिए 23 मई को होने वाली मतगणना के दौरान सौ फीसदी मिलान की मांग की गयी थी.
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर इस मामले में दखल दिया गया तो इससे लोकतंत्र को नुकसान होगा.

इसे भी पढ़ेंःकर्नाटकः कांग्रेस नेता की मुसलमानों से अपील- भाजपा से मिलाये हाथ, परिस्थिति से करें समझौता

दरअसल चेन्नई के टेक फॉर ऑल ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दाखिल कर कहा कि तकनीकी तौर पर वीवीपीएटी से जुडी ईवीएम सही नहीं हैं. जिस पर कोर्ट ने कहा कि कि आप न्यूसेंस क्रिएट कर रहे हैं.

बता दें कि याचिकाकर्ता ने गोवा और उड़ीसा में ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट से सभी ईवीएम का वीवीपैट से मिलान करने की मांग की थी.

Mayfair 2-1-2020
Related Posts

Karnataka : #CAA विरोधी नाटक का मंचन किया,  स्कूल के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज

स्कूल में बच्चों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ एक नाटक का मंचन किया गया, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि धूमिल की गयी.

इसे भी पढ़ेंःएग्जिट पोल पर ध्यान न दें, मतगणना केंद्रों पर डटे रहें : प्रियंका गांधी

इस दौरान कोर्ट ने ये भी कहा कि ‘इस मामले पर पहले ही चीफ जस्टिस की बेंच फैसला दे चुकी है. फिर आप इस मामले को वेकेशन बेंच के सामने क्यों उठा रहे हैं?’. याचिका को बकवास बताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यही करते रहे तो इससे लोकतंत्र को नुकसान होगा.

Sport House

गौरतलब है कि सात मई को ही सुप्रीम कोर्ट में ईवीएम और वीवीपैट की पर्चियों के मिलान को लेकर सुनवाई हुई थी. जहां शीर्ष अदालत ने विपक्ष की याचिका को खारिज कर दिया था.

इसे भी पढ़ेंःचुनावी नतीजों से पहले ईवीएम पर बहस शुरू, निर्वाचन आयोग जायेंगे विपक्ष के नेता

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like