National

ईवीएम-वीवीपैट से 100 फीसदी पर्ची मिलान वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने ईवीएम के साथ वीवीपीएटी को शत प्रतिशत मिलाए जाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी है.

उच्चतम न्यायालय ने लोकसभा चुनाव के लिए 23 मई को होने वाली मतगणना के दौरान सौ फीसदी मिलान की मांग की गयी थी.
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर इस मामले में दखल दिया गया तो इससे लोकतंत्र को नुकसान होगा.

इसे भी पढ़ेंःकर्नाटकः कांग्रेस नेता की मुसलमानों से अपील- भाजपा से मिलाये हाथ, परिस्थिति से करें समझौता

दरअसल चेन्नई के टेक फॉर ऑल ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दाखिल कर कहा कि तकनीकी तौर पर वीवीपीएटी से जुडी ईवीएम सही नहीं हैं. जिस पर कोर्ट ने कहा कि कि आप न्यूसेंस क्रिएट कर रहे हैं.

बता दें कि याचिकाकर्ता ने गोवा और उड़ीसा में ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट से सभी ईवीएम का वीवीपैट से मिलान करने की मांग की थी.

इसे भी पढ़ेंःएग्जिट पोल पर ध्यान न दें, मतगणना केंद्रों पर डटे रहें : प्रियंका गांधी

इस दौरान कोर्ट ने ये भी कहा कि ‘इस मामले पर पहले ही चीफ जस्टिस की बेंच फैसला दे चुकी है. फिर आप इस मामले को वेकेशन बेंच के सामने क्यों उठा रहे हैं?’. याचिका को बकवास बताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यही करते रहे तो इससे लोकतंत्र को नुकसान होगा.

गौरतलब है कि सात मई को ही सुप्रीम कोर्ट में ईवीएम और वीवीपैट की पर्चियों के मिलान को लेकर सुनवाई हुई थी. जहां शीर्ष अदालत ने विपक्ष की याचिका को खारिज कर दिया था.

इसे भी पढ़ेंःचुनावी नतीजों से पहले ईवीएम पर बहस शुरू, निर्वाचन आयोग जायेंगे विपक्ष के नेता

Related Articles

Back to top button