National

चुनावी नतीजों से पहले ईवीएम पर बहस शुरू, निर्वाचन आयोग जायेंगे विपक्ष के नेता

New Delhi: चुनावी नतीजों से पहले ईवीएम का जिन्न फिर से बाहर आ गया है. एग्जिट पोल में बीजेपी और एनडीए को मिलते बहुमत के बीच सात विपक्षी दलों ने ईवीएम पर एकबार फिर से सवाल उठाये हैं.

Jharkhand Rai

चुनाव आयोग से मिलेंगे विपक्ष के नेता

ईवीएम पर सवाल उठाते हुए आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में विपक्षी दल के नेता मंगलवार को चुनाव आयोग से मुलाकात करेंगे. माना जा रहा है कि वे आयोग से मांग करेंगे कि मतगणना के दिन ईवीएम का मिलान 50% वीवीपैट की पर्चियों से किया जाये.

इसे भी पढ़ेंःसरकार के अल्पमत में होने की अटकलों के बीच बोले सीएम कमलनाथ- हम फ्लोर टेस्ट के लिये हैं तैयार

नायडू के अलावा, प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आप नेता संजय सिंह, कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी, कांग्रेस नेता राशिद अल्वी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी एग्जिट पोल और ईवीएम पर सवाल उठाए

Samford

ईवीएम से छेड़छाड़ आसान : नायडू

आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताते हुए कहा कि ‘फोन टैप करने की तरह ही ईवीएम से छेड़छाड़ करना आसान है. चंद्रबाबू ने कहा कि ईवीएम को लेकर कई तरह की बातें सुनने में आ रही हैं. दिल्ली में कुछ लोग कह रहे हैं कि ईवीएम और कंट्रोल यूनिट बदली जा रहीं हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि हम फ्रीक्वेंसी की मदद से बाहर से ही सभी वोट बदल सकते हैं. सभी पार्टियां इस सोच में हैं कि कैसे ईवीएम को बचाया जाए.’

इसे भी पढ़ेंःएग्जिट पोल पर ध्यान न दें, मतगणना केंद्रों पर डटे रहें : प्रियंका गांधी

पोल जैसे नतीजे आये तो ईवीएम में धांधली हुई : कांग्रेस

इधर कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने एक टीवी चैनल में चर्चा के दौरान ईवीएम में धांधली को लेकर सवाल खड़े किये. उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल के नतीजे अगर सही रहते हैं तो इसका सीधा अर्थ है कि ईवीएम में धांधली की गई है. सभी एग्जिट पोल लगभग एक ही नतीजे दे रहे हैं, ऐसे में उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है.

आप नेता ने दी आंदोलन की धमकी

वहीं आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने 23 मई को लोकसभा चुनाव की काउंटिंग से पहले चुनाव आयोग द्वारा गाइड लाइन जारी न होने पर आंदोलन का रास्ता अपनाने का ऐलान किया है.

संजय सिंह ने कहा कि राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग से लिखकर कहा था कि VVPAT की पर्चियों और EVM मशीन में कोई मिस मैच होता है या दोनों के वोट में मिसमैच और गड़बड़ी पाई जाती है तो आगे की गाइड लाइन क्या है? – क्या उस क्षेत्र का चुनाव रद्द होगा? – क्या उस क्षेत्र में दोबारा मतगणना होगी?

इसे भी पढ़ेंःसरकार के अल्पमत में होने की अटकलों के बीच बोले सीएम कमलनाथ- हम फ्लोर टेस्ट के लिये हैं तैयार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: