Crime NewsJharkhandPalamu

‘हुजूर… 2 साल बाद बेटी की मौत का बदला ले लिया, गिरफ्तार कर लीजिए’

Palamu: पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र में शुक्रवार को हुई युवक की हत्या मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर रविवार को शव बरामद कर लिया. युवक की हत्या पत्थर से कूचकर की गई थी और हत्यारा उसकी पूर्व प्रेमिका का पिता निकला. पूर्व प्रेमिका की पहले ही मौत हो चुकी है. मृतक की पहचान बारा निवासी अर्जुन भुइया के पुत्र वीरेंद्र भुइयां के रूप में की गई. आरोपी इसी गांव का मंगर यादव है. उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

19 जून को हुई थी हत्या

पांकी के थाना प्रभारी जेके रमण ने बताया कि गत 19 जून को बारा गांव में मरनी का भोज चल रहा था. भोज खाने के लिए वीरेंद्र भुइयां भी आया था. लंबे समय से वीरेंद्र को तलाश रहे मंगर यादव ने वीरेंद्र भुइयां को वहां देखा. उसे देखते वह अपने साथियों के साथ दयाल यादव के खेत में वीरेंद्र को पकड़ा और जमकर पिटाई की. पहले हाथ तोड़ा और फिर पत्थर से कूच कर हत्या कर दी. बाद में शव पास के नस्कटवा जंगल में ले जाकर छुपा दिया.

advt

हत्या कर दी पुलिस को जानकारी

हत्या करने के बाद मंगर ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और बताया कि उसने अपनी बेटी की मौत का बदला ले लिया है. सूचना पर मंगर को गिरफ्तार किया गया और छानबीन शुरू की गई. उसकी निशानदेही पर नस्कटवा जंगल से वीरेंद्र भुइयां का शव बरामद किया गया. इस मामले में मंगर को साथ देने वाले उसके साथियों की तलाश तेज कर दी गई है. उनकी पहचान कर ली गई है.

वीरेंद्र की क्यों हुई हत्या?

मंगर यादव ने पुलिस को बताया कि वीरेंद्र भुइयां का उसकी बेटी के साथ प्रेम प्रसंग था. वीरेंद्र ने उसे प्रेमजाल में फंसाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया. जब उसकी बेटी प्रेग्नेंट हो गई तो उसका अबॉर्शन करा दिया. इसी बीच उसकी बेटी की मौत हो गई. वीरेंद्र इसके बाद भाग गया और जेजेएमपी उग्रवादी संगठन में शामिल हो गया. हमेशा भागा फिरता रहता था. 2 साल से वह घर नहीं आ रहा था.

हमेशा रहता था हत्या की ताक में

मंगर ने बताया कि वह हमेशा वीरेंद्र की हत्या की फिराक में रहता था. हत्या से कुछ दिन पहले वीरेंद्र पकड़ में आ गया था. लेकिन स्थिति ठीक नहीं रहने पर उसकी हत्या नहीं कर सका.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: