न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आरबीआई का आंकड़ा, विदेशी कर्ज घटकर 514.4 अरब डॉलर पर पहुंचा

रिजर्व बैंक ने जानकारी दी है कि वाणिज्यिक कर्ज, अल्पावधि कर्ज और अनिवासी भारतीय (एनआरआई) की जमा राशि में कमी आने के कारण जून तिमाही में देश का कुल बाहरी कर्ज 514.40 अरब डॉलर रह गया है.

134

Munbai : रिजर्व बैंक ने जानकारी दी है कि वाणिज्यिक कर्ज, अल्पावधि कर्ज और अनिवासी भारतीय (एनआरआई) की जमा राशि में कमी आने के कारण जून तिमाही में देश का कुल बाहरी कर्ज 514.40 अरब डॉलर रह गया है. यह पिछले वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही की तुलना में 2.8 प्रतिशत कम है. आंकड़ों के अनुसार देश का कुल बाहरी कर्ज मार्च तिमाही के स्तर से 14.9 अरब डॉलर कम होकर जून तिमाही में 514.4 अरब डॉलर रह गया. बता दें कि जून तिमाही के अंत में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मुकाबले बाहरी कर्ज अनुपात 20.4 प्रतिशत पर पहुंचा. साथ ही मार्च तिमाही अंत तक यह अनुपात 20.5 प्रतिशत रहा था. जानकारी दी गयी है कि कुल बाह्य कर्ज में वाणिज्यिक कर्ज की सर्वाधिक 37.8 प्रतिशत हिस्सेदारी रही है.

इसे भी पढ़ें : स्वच्छ भारत एक प्रभावी जन आंदोलन और क्रांति बन गया है : राष्ट्रपति

hosp3

एनआरआई जमा 24.2 प्रतिशत और अल्पावधि व्यापार ऋण 18.8 प्रतिशत पर रहा

इसके बाद एनआरआई जमा 24.2 प्रतिशत और अल्पावधि व्यापार ऋण 18.8 प्रतिशत रहा है.  इस क्रम में जून 2018 के अंत तक दीर्घावधि ऋण (एक साल से अधिक की परिपक्वता अवधि वाले ऋण) मार्च तिमाही की तुलना में 11.4 अरब डॉलर कम होकर 415.70 अरब डॉलर पर आया. रिजर्व बैंक के अनुसार विदेशी मुद्रा के संदर्भ में अमेरिकी डॉलर से प्रभावी ऋण जून 2018 के अंत तक देश के कुल बाह्य कर्ज में सर्वाधिक 50.1 प्रतिशत का हिस्सेदार रहा है. साथ ही भारतीय रुपया 35.4 प्रतिशत, एसडीआर 5.4 प्रतिशत, जापानी येन 4.7 प्रतिशत और यूरो 3.3 प्रतिशत पर रहे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: