Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

Ranchi : 4 महीनों से बंद स्कूल, कॉलेजों में फिर से होगी रौनक, जानें किन शर्तों का पालन करना होगा जरूरी

Ranchi: राज्यभर में स्कूल, कॉलेजों, आईटीआई, पॉलिटेक्निक और कोचिंग संस्थानों को खोले जाने की अनुमति राज्य सरकार ने दे दी है. सरकार के इस फैसले के बाद अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने सभी जिलों के डीसी, डीईओ और अन्य को सोमवार को लेटर भेजा है. इसमें कहा गया है कि स्कूलों में 9वीं क्लास से ऊपर की कक्षाएं शुरू की जा सकती हैं. पर इसके लिये कोरोना प्रोटोकॉल का पालन हर हाल में करना तय होगा.

निर्धारित एसओपी के आधार पर ही स्कूल, कॉलेजों और अन्य एकेडमिक संस्थानों का संचालन शुरू करना है. विभाग ने एसओपी संबंधी विस्तृत जानकारी भी सभी को भेजा है.

इसे भी पढ़ें :निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव को लेकर 10 अगस्त तक जिलों से मांगा प्रस्ताव, हो सकती है चुनाव की घोषणा

advt

चार महीने बाद खुलेंगे स्कूल

विभाग के मुताबिक पूर्व में माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की पहल पर 18 दिसंबर, 2020 से प्राइवेट स्कूलों में 10वीं और 12वीं की कक्षाएं शुरू की गयी थीं. पर अप्रैल, 2021 से कोरोना संकट के बढ़ते खतरे के कारण स्कूल, कॉलेजों को बंद रखने का फैसला राज्य सरकार ने लिया था. हालांकि ऑनलाईन माध्यम से पठन-पाठन का सिलसिला जारी था.

पर अब कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने स्कूल, कॉलेजों को खोलने पर सहमति जतायी है.

adv

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर शिक्षण संस्थानों को खोलने की पहल की जा रही है. इनका पालन जरूरी होगा.

इसे भी पढ़ें:Tokyo Olympics 2020 : डिस्कस थ्रो में मेडल की उम्मीद चकनाचूर, छठे स्थान पर रहीं कमलप्रीत कौर

क्या क्या रखना है ध्यान

  • 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं की ऑफलाइन क्लास शुरू होगी.
  • स्कूल के संचालन के दौरान जरूरी निर्देशों का पालन करना होगा. सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का उपयोग करना अनिवार्य होगा.
  • डिजिटल कंटेंट छात्रों को पूर्व की तरह उपलब्ध कराये जाते रहेंगे.
  • छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी. यह स्टूडेंट्स और उनके पैरेंट्स की इच्छा पर निर्भर करेगा.
  • ग्रुप कल्चरल एक्टिविटी प्रतिबंधित रहेगी.
  • ऑफलाइन टेस्ट और एग्जाम निषेध रहेगा.
  • ऑफलाइन क्लास लिये जाने से पूर्व शिक्षकों का टीकाकरण (दोनों) अनिवार्य रूप से होना चाहिये. जिला प्रशासन समय समय पर रैंडमली टीचर्स, स्टूडेंट्स का कोविड-19 टेस्ट करता रहेगा.
  • जहां तक संभव हो, स्कूलों में एयरकंडीशनर का उपयोग कम से कम हो.
  • यूनिवर्सिटी, कॉलेजों के मामले में तकरीबन यही सब नियम लागू होंगे.
  • कॉलेज जाने वाले स्टूडेंट्स से उम्मीद की जाती है कि कोरोना से बचाव को कम से कम एक बार टीका जरूर लिया हो.
    आइटीआई, स्किल डेवलपमेंट सेंटर, पॉलिटेक्निक संस्थान, कोचिंग संस्थान वगैरह भी जरूरी निर्देशों का पालन करते हुए खोले जायेंगे.

इसे भी पढ़ें:महिला थाना में हो रही थी शादी, अचानक दूल्हे के घरवालों की हुई एंट्री, बदल गया पूरा सीन…

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: