JharkhandRanchi

रांची के आड्रे हाउस में 17 से 19 जनवरी तक आदिवासी दर्शन पर होगा अंतरराष्ट्रीय सेमिनार

Ranchi : रांची के आड्रे हाउस में 17 से 19 जनवरी तक आदिवासी (जनजातीय) दर्शन (ट्राइबल फिलॉसफी) पर अंतराराष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है. सेमिनार का आयोजन डॉ रामदयाल मुंडा ट्राइबल वेलफेयर रिसर्च इंस्टीट्यूटस रांची की ओर से किया जा रहा है.

17 जनवरी को सुबह दस बजे उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू मौजूद रहेंगी. जबकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अध्यक्षता करेंगे. 19 जनवरी को समापन समारोह की अध्यक्षता जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा करेंगे.

संस्थान के निदेशक रणेंद्र कुमार ने आज संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी.

इसे भी पढ़ेंः Kolkata :  Mamta_Banerjee ने की पीएम मोदी से मुलाकात, कहा, मैंने प्रधानमंत्री को बता दिया है, बंगाल में CAA-NRC स्वीकार नहीं  

दुनिया में पहली बार ट्राइबल फिलॉसफी पर हो रहा अंतराराष्ट्रीय सेमिनार

संस्थान के निदेशक ने बताया कि दुनिया में पहली बार ट्राइबल फिलॉसफी पर अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन हो रहा है. इस सेमिनार में ट्राइबल फिलॉसफी से जुड़े 12 अंतरराष्ट्रीय विद्वान और देशभर से 100 से ज्यादा विद्वान शामिल होंगे.

राज्य के विश्वविद्यालयों में आदिवासी दर्शन से जुड़े प्राध्यापक, शोधकर्ता और विद्यार्थी की भी भागीदारी होगी. इसके अलावा राज्य में 32 जनजातीय समुदायों के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #Pakistan : आईएसआईएस ने क्वेटा मस्जिद धमाके की ली जिम्मेदारी, इमरान ने कायराना आतंकवादी हमला करार दिया

तीन दिनों में होंगे 12 एकेडमिक सेशन

तीन दिनों तक चलने वाले इस अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में उद्घाटन और समापन सत्र को छोड़कर 12 एकेडमिक सेशन होंगे. हर सेशन में ट्राइबल कल्चर के अलग-अलग आय़ामों पर विद्वान अपना प्रेजेंटेशन देंगे.

इस दौरान आदिवासियों के रहन-सहन, खान-पान, दिनचर्या और कला-संस्कृति समेत अन्य विधाओं पर बातें होंगी. इस सेमिनार का मकसद ट्राइबल फिलॉसफी को अंतरराष्ट्रीय पटल पर स्थापित करना है.

नेतरहाट में जुटेंगे जनजातीय कलाकार

इस मौके पर बताया गया कि संस्थान के द्वारा नेतरहाट में 10 से 15 फरवरी तक जनजातीय और लोक चित्रकला पर कार्यक्रम का आयोजन होगा. इस कार्यक्रम में झारखंड समेत देश के विभिन्न इलाकों से जनजातीय व लोक कला के कलाकार शामिल होंगे. उनके चित्रों की पेंटिंग भी यहां देखने को मिलेगी.

मौके पर ये लोग थे मौजूद

संवाददाता सम्मेलन में आयोजन समिति के अध्यक्ष व डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ सत्यनारायण मुंडा, लेखक महादेव टोप्पो, रांची यूनिवर्सिटी के टीआरएल डिपार्टमेंट के प्राध्यापक प्रो हरि उरांव, सिंहभूम आदिवासी समाज के दामोदर सिंकू, सिंहभूम आदिवासी समाज के दुंबे दिग्गी, शांति खलखो, प्रो अभय सागर मिंज,  संतोष किड़ो, संजय बसु मल्लिक और जनजातीय शोध संस्थान के उप निदेशक चिंटू दोराईबुरु मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः #Dhanbad: भाजपा ने CAA  और NRC के पक्ष में बनायी मानव श्रृंखला,  शामिल हुए धनबाद के सांसद, मेयर सहित तीन विधायक, पर नहीं दिखी भीड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button