Corona_UpdatesJharkhandRanchi

सेंटेविटा और पैथकाइंड लैब को रांची जिला प्रशासन ने भेजा नोटिस, दो दिन में जवाब देने का निर्देश

  • सेंटेविटा पर कोविड पॉजिटिव मरीज को एडमिट नहीं करने, मरीज की सूचना नहीं देने का है आरोप
  • पैथकाइंड लैब पर कोरोना मरीज की गलत रिपोर्ट जारी करने का है आरोप
  • रांची डीसी ने कहा, कोरोना संकट मे ऐसे लापरवाही बर्दाशत नहीं, प्रशासन करेगा सख्त कार्रवाई

Ranchi :  राजधानी में इन दिनों कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. वहीं दूसरी तरफ इससे इलाज से जुड़े संस्थान संक्रमित मरीजों के साथ लापरवाही भी कर रहे हैं. ऐसा करने में राजधानी के बड़े अस्पतालों में शामिल सेंटेविटा हॉस्पिटल सहित पैथकाइंड लैब जांच केंद्र प्रमुखता से शामिल हैं.

प्रतिष्ठित माने जाने वाले सेंटेविटा हॉस्पिटल पर यह आरोप है कि इसने कोविड +ve पाये जाने वाले एक मरीज को अपने यहां एडमिट नहीं किया था. जिला प्रशासन ने इन दोनों संस्थानों को शॉ-कोज किया है. डीसी छवि रंजन का कहना है कि कोविड के प्रसार में ऐसे संस्थानों की लापरवाही बर्दाशत नहीं की जा सकती है.

advt

नोटिस जारी करते हुए इनसे 2 दिनों में जवाब मांगा गया है. प्रशासन का कहना है कि जिन मामलों में शो कॉज किया गया है, उनसे संबंधित मरीज का ब्योरा पेश नहीं किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें – खेलगांव कोविड केयर सेंटर में लापरवाही, 7 कर्मियों को शोकॉज, 24 घंटे के अंदर देना है जवाब

सेंटेविटा के खिलाफ नोटिस जारी

डीसी छवि रंजन के आदेश के बाद जिला प्रशासन ने सेंटेविटा अस्पताल के खिलाफ नोटिस जारी किया है.  प्रतिष्ठित हॉस्पिटल ने कोविड +ve पाये गये एक मरीज को अपने यहां एडमिट नहीं किया था. सेटेविंटा पर इस बात को लेकर भी शिकायत हुई थी कि मरीज को दाखिल नहीं करने के साथ अस्पताल प्रबंधन ने मरीज के कोविड 19 पॉजिटिव पाये जाने के बाद भी इसकी जानकारी जिला प्रशासन को नहीं दी.

इसके साथ ही सेंटेविटा को किसी मरीज का कोविड टेस्ट करने की प्राप्त अनुमति के संबंध में आइसीएमआर एवं राज्य सरकार से प्राप्त अनुमति पत्र के बारे में जानकारी देने के लिए नोटिस जारी किया गया है.

लैब में मरीज को बताया गया पॉजिटिव, जब आरटीपीसीआर हुआ तो रिपोर्ट आयी नेगेटिव

पैथकाइंड लैब को लेकर जिला प्रशासन को एक शिकायत मिली थी. शिकायत में कहा गया था कि कोविड-19 के एक मरीज की रिपोर्ट जब लैब में जांच के लिए भेजी गयी, तो रिपोर्ट पॉजिटिव बतायी गयी. लेकिन जब सदर अस्पताल एवं मेडिका हॉस्पिटल में आरटीपीसीआर कराया गया, तो उसी व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव मिली.

पूरी घटना की जानकारी रांची डीसी को दी गयी. मामले को संज्ञान में लेते हुए डीसी ने पैथकाइंड लैब के खिलाफ़ संबंधित मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया. साथ ही लैब को 2 दिनों के अंदर अपने जवाब के साथ हाजिर होने का निर्देश भी डीसी छवि रंजन ने दिया. जारी नोटिस में डीसी ने लैब से आईसीएमआर द्वारा प्राप्त सभी प्रमाण पत्रों की प्रति पेश करने का निर्देश भी दिया है.

इसे भी पढ़ें –Garhwa : कोरोना से आयुष चिकित्सक की मौत, गढ़वा में अब तक तीन की मौत, मचा है हड़कंप

पूरी जिम्मेवारी और जनहित को ध्यान में रख काम करें संस्थान :  डीसी

डीसी छवि रंजन का कहना है कि “कोविड19 का प्रसार जिला सहित राज्य के अन्य हिस्सों में तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में प्राइवेट सहित पब्लिक सभी संबंधित संस्थाओं को अपना काम पूरी जिम्मेवारी एवं जनहित को ध्यान में रख करना चाहिए. संक्रमण के इस दौर में किसी तरह की लापरवाही बर्दाशत नहीं की जा सकती है. अगर कोई भी सरकारी दिशा निर्देशों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ जिला प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा.

इसे भी पढ़ें –झारखंड में 57 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, कुल आंकड़ा हुआ 11423

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: