न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले पूर्व सांसद जोरावर राम गये जेल

1,654

Palamu:  पूर्व मंत्री और पलामू के भूतपूर्व सांसद जोरावर राम को आज एक पुराने मामले में न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. श्री राम इस बार भी लोकसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने वाले हैं. उन्होंने कल ही राजद से इस्तीफा दे दिया था और निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा की थी. उन्होंने नामांकन पत्र भी खरीदा था.

इसे भी पढ़ेंः शारदा चिट फंड घोटाला : सीबीआई ने SC से कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर की गिरफ्तारी की इजाजत मांगी

क्या है पूरा मामला? 

भूतपूर्व सांसद व पूर्व मंत्री जोरावर राम को चोरी के एक मामले में दीपक कुमार न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी की अदालत ने जमानत याचिका को खारिज करते हुए जेल भेज दिया है.

विदित हो कि जोरावर राम के विरुद्ध चैनपुर थाना के शाहपुर निवासी दिलीप शर्मा की पत्नी आरती शर्मा ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पलामू की अदालत में परिवाद पत्र संख्या 369/2011 दाखिल किया था.

उक्त मामले में 147, 323 व 379 के तहत जोरावर राम के विरुद्ध न्यायालय के द्वारा संज्ञान लिया गया था.

इसे भी पढ़ेंः नाबालिग को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने भेजा जेल

केस चार्ज होने पर न्यायालय में उपस्थित नहीं हुए 

Related Posts

गढ़वा : चाची को प्रेमजाल में फंसा तलाक कराया, शादी का दबाव बनाने पर ट्रक से कुचलकर मार डाला

रिश्ते को शर्मसार करने वाले इस पूरे मामले के आरोपी भतीजे सद्दाम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

SMILE

मामला विचारण दीपक कुमार न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी के न्यायालय में चल रहा था. जोरावर राम उक्त मामले में पूर्व में जमानत पर थे.

परंतु जमानत के बाद जब मामला केस चार्ज पर आया तो वे न्यायालय में उपस्थित नहीं हुए. उनके विरुद्ध गैर जमानती वारंट व कुर्की का कार्रवाई करने का आदेश निर्गत किया गया था.

आत्मसमर्पण के बाद न्यायिक हिरासत में भेजे गये

उपरोक्त मामले में आज पूर्व सांसद जोरावर राम न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी दीपक कुमार की अदालत में जमानत हेतु आत्मसमर्पण किया. आवेदिका के अधिवक्ता सचिन्द्र कुमार पांडेय ने जमानत नहीं देने को लेकर न्यायालय में कड़ा विरोध किया और कहा कि श्रीराम ने जानबूझकर कोर्ट को गुमराह किया है.

इनके विरुद्ध कुर्की की कार्रवाई निर्गत की गयी है और मामला काफी पुराना है. अदालत ने आवेदिका व अभियुक्त की बहस सुनने के बाद जोरावर राम की जमानत याचिका को खारिज करते हुए उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

इसे भी पढ़ेंः पलामू संसदीय सीट के लिए पांचवे दिन सात नामांकन, भाजपा-राजद प्रत्याशी ने जनसभा में दिखायी ताकत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: