National

पाकिस्तान नहीं सुधरेगा, आतंकी हाफिज सईद  26/11 की बरसी पर मारे गये आतंकियों के लिए प्रार्थना करवा रहा है

जान लें कि मुंबई हमले में 9 आतंकियों को मार गिराया गया था. एक आतंकी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ लिया गया था, कसाब को फांसी पर लटका दिया गया था.  

NewDelhi : 26/11 की बरसी पर पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है. खबर है कि आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का सरगना आतंकी हाफिज सईद मुंबई हमले में मारे गये 10 आतंकियों के लिए आज पंजाब के साहीवाल में विशेष प्रार्थना सभा करवा रहा है.  सईद पर संयुक्‍त राष्‍ट्र की सुरक्षा परिषद (UNSC) ने 10 मिलियन डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है.

जमात-उद-दावा आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का राजनीतिक चेहरा है

बता दें कि जमात-उद-दावा पाकिस्तान में स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का राजनीतिक चेहरा है.  अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार यह सभा जमात की मस्जिदों में होगी. इसमें 2008 में मुंबई हमले में 170 लोगों का कत्लेआम करने वाले आतंकियों के लिए प्रार्थना होगी. जान लें कि मुंबई हमले में 9 आतंकियों को मार गिराया गया था. एक आतंकी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ लिया गया था, कसाब को फांसी पर लटका दिया गया था.

इसे भी पढ़े :  हैंड ऑफ गॉड के लिए याद किये जाने वाले महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना नहीं रहे… हार्ट अटैक से निधन…

जकी-उर-रहमान लखवी पिछले दिनों हाफिज सईद से मिला था

जम्‍मू और कश्‍मीर में अलगाववादी गतिविधियों को मदद पहुंचाने के लिए जमात-उद-दावा ने जेके यूनाइटेड यूथ मूवमेंट नाम से एक राजनीतिक फोरम शुरू किया है. खुफिया इनपुट्स के अनुसार लश्‍कर का चीफ ऑपरेशन कमांडर और उसकी जिहाद विंग संभालने वाला जकी-उर-रहमान लखवी पिछले दिनों हाफिज सईद से मिला था. मीटिंग में जिहाद के लिए फंड्स कलेक्‍ट करने से जुड़ी बातें हुईं.

इसे भी पढ़े :  गुलाबो सिताबो, छपाक जैसी फिल्मों को पीछे छोड़ते हुए ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी ‘जलीकट्टू’

लाहौर में जमात के कैडर की मीटिंग 26 फरवरी को हुई थी.

जमात के लोगों ने 13 नवंबर को गुजरांवाला के मरकज अक्‍सा में करीब 70 कारोबारियों से मुलाकात कर कश्‍मीर में जिहाद के लिए मदद मांगी थी.  जमात/लश्‍कर पाकिस्‍तानी जमीन से पैसा जमा कर कश्‍मीर में जिहाद  करना चाहते हैं.
जानकारी है कि लाहौर में जमात के कैडर की मीटिंग 26 फरवरी को हुई थी.

जिसमें सईद ने आतंकवादियों से कहा कि जमात के नेताओं के खिलाफ दर्ज मुकदमों से परेशान न हों. 19 नवंबर को पाकिस्‍तान की एक अदालत ने सईद और उसके दो खास लोगों को आतंकी फंडिंग के मुकदमे में कुल साढ़े 10 साल जेल की सजा सुनाई थी.  इसे पाकिस्‍तान पर फायनेंशियल ऐक्‍शन टास्‍क फोर्स (FATF) में बनाए गये दबाव का नतीजा माना जा रहा है.

इसे भी पढ़े :  फोन से प्रलोभन देने के मामले में लालू प्रसाद पर आपराधिक मामला दर्ज करे राज्य सरकार : बाबूलाल मरांडी

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: