न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ज्ञानसेतु ई विद्यावाहिनी में स्कूलों की रुचि नहीं, 21 जिलों से सिर्फ 198 ने भरा फॉर्म

राज्य शिक्षा परियोजना ने बताया चिंताजनक, कार्यक्रम से गणित, अंग्रेजी और हिंदी सीखने में 14 प्रतिशत वृद्धि दर्ज

960

Ranchi : विद्यार्थियों में सीखने की क्षमता विकसित करने के लिए शुरू किये गये  ज्ञान सेतु ई विद्यावाहिनी कार्यक्रम में राज्य के स्कूल अधिक रुचि नहीं ले रहे हैं.

इसके तहत स्कूलों को कार्यक्रम के प्रमाणीकरण के लिये फॉर्म भरना होता है. लेकिन अब तब राज्य के मात्र 21 जिलों के 198 स्कूलों ने ही यह सर्टिफिकेशन फॉर्म भरा है.

राज्य शिक्षा परियोजना की ओर से पांच जुलाई को जारी पत्र में इसकी जानकारी दी गयी है. इसमें बताया गया है कि ज्ञानसेतु ई विद्यावाहिनी कार्यक्रम में स्कूलों की कम रुचि चिंताजनक है. परियोजना की ओर से बार -बार पत्र जारी करने के बाद भी स्कूलों ने इस संबध में कोई अरुचि दिखाते हुए जुलाई तक सर्टिफिकेशन फॉर्म नहीं भरा.

इसे भी पढ़ें : पहला राफेल लड़ाकू विमान सितंबर में भारत को सौंप दिया जायेगा :  फ्रांसीसी राजदूत

11 जिलों के पांच या इससे भी कम स्कूलों ने भरा फॉर्म

इस संबध में जारी पत्र में बताया गया है कि राज्य के 11 जिलों से पांच या इससे भी कम स्कूलों ने फॉर्म भरे. तीन जिलों से एक भी फॉर्म नहीं भरा गया.

इसके लिए पहले ही परियोजना की ओर से कार्यक्रम से संबधित मैन्युअल उपलब्ध कराने के बाद भी जिला स्तर से स्कूलों के प्रदर्शन में कमी है जबकि योजना के तहत सभी सरकारी विद्यालयों को फॉर्म भरना है.

इसे भी पढ़ें : पलामूः 48 घंटों में चार बड़े हादसे-चार की मौत, आक्रोशित लोगों ने फूंका हाइवा

SMILE

गणित, अंग्रेजी और हिंदी सीखने की क्षमता में 14 प्रतिशत वृद्धि

राज्य में ज्ञान सेतु एवं ई विद्यावाहिनी कार्यक्रम लागू होने के बाद छह माह में ही छात्रों की सीखने की क्षमता में 14 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गयी.

इसी को देखते हुए कार्यक्रम के तहत इस वित्तीय वर्ष में जुलाई के पहले सप्ताह से बूस्टर फेज शुरू किया गया जो 45 दिनों का है. इसका उद्देश्य बच्चों की सीखने की क्षमता में लगातार वृद्धि करना है.

15 से 19 जुलाई तक का दिया गया समय

शिक्षा परियोजना की ओर से स्कूलों को सर्टिफिकेशन फॉर्म भरने के लिये 15 से 19 जुलाई तक का समय दिया गया है. इसके लिये परियोजना की ओर से जिलावार पदाधिकारी को कार्यभार दिया गया है जिन्हें जिलावार ज्ञान सेतु ई विद्यावाहिनी कार्यक्रम की मानीटरिंग करनी है.

इसे भी पढ़ें : Zomato पर 55 हजार का जुर्माना, ग्राहक ने व्रत तोड़ने के लिए मंगाया था पनीर बटर मसाला, भेज दिया बटर चिकन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: