न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आलोक नाथ पर विन्‍ता नंदा ने लगाया यौन शोषण का आरोप, सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा ‘संस्‍कारी माई चप्‍पल’

162

New Delhi: सोशल साइट पर #Metoo कैंपन की आंच बॉलीवुड के संस्‍कारी बाबूजी कहे जाने वाले एक्‍टर आलोक नाथ तक पहुंच गयी है. विन्‍ता नंदा (Vinta Nanda) नाम की एक महिला ने अपनी फेसबुक पोस्‍ट के जरिए आलोक नाथ (Alok Nath) पर बलात्‍कार का आरोप लगाया है. इस खबर ने सनसनी पैदा कर दी है. #MeToo मूवमेंट के तहत ही विन्‍ता नंदा ने 19 साल पुरानी इस घटना को शेयर किया है और अपनी आपबीती को सबके सामने रखा है. बॉलीवुड सेलेब्रिटीज ने विन्‍ता नंदा (Vinta Nanda) का सपोर्ट किया है और उन्होंने ट्विटर पर रिएक्शन भी दिए हैं. ऋचा चड्ढा से लेकर स्वरा भास्कर जैसी हमेशा मुखर रहने वाली हस्तियां उनके सपोर्ट में आगे आई हैं.

उनके आरोपों पर आलोक नाथ सफाई भी दे चुके हैं. उनका कहना है कि इस पर बात करने का कोई फायदा नहीं है क्‍योंकि महिला की बात पर ही विश्‍वास किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: #Metoo का असरः MAMI फिल्म महोत्सव से बाहर हुई एआईबी, रजत कपूर की फिल्में

hosp3

यूं बताई विनता नंदा (Vinta Nanda) ने पूरी घटना

विनता नंदा ने लिखा, “वह एक शराबी, लापरवाह और बुरा शख्स था लेकिन वह उस दशक का टेलीविजन स्टार भी था, इसलिए न सिर्फ उसे उसके बुरे व्यवहार के लिए माफ कर दिया जाता था बल्कि कई लोग उसे और भी ज्यादा बुरा बनने के लिए उकसाते थे. उसने शो की मुख्य अभिनेत्री को भी परेशान किया, जो उसमें बिल्कुल दिलचस्पी नहीं दिखाती थी. एक बार मैं आलोक नाथ के घर पर हुई पार्टी में शामिल हुई और वहां से देर रात दो बजे के करीब घर जाने के लिए निकली. मेरी ड्रिंक में कुछ मिला दिया गया था. मैं घर जाने के लिए खाली सड़क पर पैदल ही चलने लगी. रास्ते में उस शख्स ने गाड़ी रोकी, वो गाड़ी खुद चला रहा था और कहा कि मैं उसकी गाड़ी में बैठ जाऊं, मुझे घर छोड़ देगा. मैं उस पर भरोसा करके गाड़ी में बैठ गई.”

नंदा ने बताया, “इसके बाद मुझे बेहोशी सी छाने के चलते हल्का-हल्का याद है. मुझे याद है कि मेरे मुंह में और ज्यादा शराब डाली गई और मेरे साथ काफी हिंसा की गई. अगले दिन जब दोपहर को मैं उठी, तो मैं काफी दर्द में थी. मेरे साथ सिर्फ दुष्कर्म ही नहीं किया गया था बल्कि मुझे मेरे घर ले जाकर मेरे साथ नृशंस व्यवहार किया गया था. मैं अपने बिस्तर से उठ नहीं सकी. मैंनै अपने कुछ दोस्तों को इस बारे में बताया लेकिन सभी ने मुझे इस घटना को भूलकर आगे बढ़ने की सलाह दी.”

इसे भी पढ़ें: झारखंड में हो क्षेत्रीय फिल्‍म फेस्टिवल का आयोजन : अमित खरे

विन्‍ता नंदा को मिल रहा बॉलीवुड एक्‍ट्रेस का सपोर्ट


बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर, ऋचा चड्ढा और मिनी माथुर ने विनता नंदा के समर्थन में ट्वीट किए हैं. मीना माथुर ने तो लिखा है कि ‘संस्कारी माय चप्पल…’ इन ट्वीट से इन एक्ट्रेसस के गुस्से को समझा जा सकता है. पंजाबी एक्ट्रेस सिमरन कौर मुंडी ने लिखा हैः “इस पोस्ट को पढ़कर मैं पत्थर हो गई…यह हिला देने वाली कहानी है!!! इसे पढ़कर मुझे दुख और गुस्सा दोनों आया. उम्मीद करते हैं विनता नंदा आपको न्याय मिले.”

कौन हैं विन्‍ता नंदा

अब सवाल उठता है कि आलोक नाथ पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला विन्‍ता नंदा कौन हैं? आपको बता दें कि विन्‍ता नंदा 90 के दशक की मशहूर डायरेक्‍टर, राइटर और प्रोड्यूसर हैं. उन्‍हें सबसे ज्‍यादा धारावाहिक ‘तारा’ के लिए जाना जाता है. वह तारा की प्रोड्यूसर, राइटर और डायरेक्‍टर थीं. उनका यह शो बेहद हिट साबित हुआ था. इस शो में नवनीत निशांत ने तारा की भूमिका निभाई थी. तारा का किरदार एक बिजनेस वुमेन का था जिसका दीपक सेठ नाम के एक शादीशुदा आदमी से अफेयर था. दीपक सेठ का किरदार आलोक नाथ ने निभाया था. दीपक सेठ की बेटी देवयानी सेठ का किरदार ग्रुशा कपूर ने निभाया था. हाल ही में ग्रुशा को सनी लियोन की बायोपिक ‘करनजीत कौर: द अनटोल्‍ड स्‍टोरी ऑफ सनी लियोन’ में देखा गया था. इस बायोपिक में उन्‍होंने सनी लियोन की मां की भूमिका निभाई थी. आपको बता दें कि जब ‘तारा’ का प्रसारण शुरू हुआ था तब केवल 52 एपिसोड बनाने की बात तय हुई थी. लेकिन शो जबरदस्‍त हिट रहा और फिर लगातार पांच सालों तक इसे प्रसारित किया जाता रहा. शो के 500 एपिसोड बनाए गए थे.

बहराल, तारा अपने समय से काफी आगे का सीरियल था और इसे दर्शकों का भरपूर प्‍यार मिला. इस शो में नवनीत और आलोक नाथ के बीच किस सीक्‍वेंस भी था. इसे इंडियन टीवी का पहला किस कहा जाता है. उस वक्‍त फिल्‍मों में भी किसिंग सीन नहीं दिखाया जाता था. इसके बावजूद ‘तारा’ की टीआरपी में कभी कोई कमी नहीं आई.

विन्‍ता नंदा की पोस्‍ट के मुताबिक ‘तारा’ की शूटिंग के दौरान आलोक नाथ शो की लीड एक्‍ट्रेस के साथ बदतमीजी करते थे. इसी वजह से उन्‍होंने आलोक को शो से बाहर का रास्‍ता दिखा दिया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: