न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में हो क्षेत्रीय फिल्‍म फेस्टिवल का आयोजन : अमित खरे

गोवा अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का पार्टनर स्टेट बनेगा झारखंड

140
  • झारखंड में है सिनेमा उद्योग का केंद्र बिंदू बनने की क्षमता
  •  सूचना एवं प्रसारण सचिव और झारखंड सरकार के बीच सहमति बनी

Ranchi :  सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव अमित खरे रांची में झारखंड के मुख्‍य सचिव सुधीर त्रिपाठी के साथ उच्‍चस्‍तरीय बैठक की. बैठक को संबोधित करते हुए अमित खरे ने कहा कि झारखंड में खुबसूरत लोकेशन, प्रशिक्षित मानव संसाधन और बेहतर फिल्‍म पॉलिसी मौजूद है. ऐसे में झारखंड फिल्‍म निर्माण का केंद्र बनने के पूरी आहर्ता को पूरा करता है. राज्‍य सरकार भी फिल्‍म निर्माताओं को सुरक्षा देने के लिए वचनबद्ध है. जरुरत है कि हम सब झारखंड को यहां की बेहतर चीजों को अंतरराष्ट्रीय पटल पर लोगों के बताया जाए. गोवा में आयोजित अंतराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का स्टेट पार्टनर बनने से  झारखंड को इसमें आसानी होगी। वहीं इस कार्यक्रम के माध्यम से झारखंड में सिनेमा की गतिविधियां में तेजी आयेगी.

इसे भी पढ़ें : CM का विभाग : 441.22 करोड़ का घोटाला, अफसरों ने गटका अचार और पत्तों का भी पैसा

गोवा आये लोगों को झारखंडी संस्‍कृति से भी अवगत कराया जायेगा

गोवा फिल्‍म फेस्टिवल में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने झारखंड को पार्टनर स्‍टेट बनाने का प्रस्‍ताव भेजा है. जिसे वहीं की सरकार ने स्‍वीकर कर लिया है. फिल्‍म फेस्टिवल में झारखंड के स्‍टेट पार्टनर बनने से झारखंड को बहुत ही फायदा होगा. गोवा अंतरराष्ट्रीय फिल्‍म फेस्टिवल 20 से 28 नवंबर तक आयोजित है. फेस्टिवल के दौरान एक दिन झारखंड दिवस के रुप में मनाया जाएगा. फेस्टिवल के दौरान मल्‍टी मीडिया के माध्‍यम से झारखंड की खुबियां बतायी जायेगी. साथ ही राज्‍य से संबंधित फिल्‍म को भी प्रदर्शित किया जायेगा. गोवा आये लोगों को झारखंडी संस्‍कृति से भी अवगत कराया जायेगा. इससे राज्‍य के पर्यटन क्षेत्र को काफी बढ़वा मिलेगी. गोवा फिल्म फेस्टिवल में हर साल देश विदेश के नामी लोग शामिल होते हैं. वहीं आम पर्यटकों को भी इसका इंतजार रहता है. राज्य में सिनेमा उद्योग को बढ़ाने में केंद्र सरकार हर संभव मदद करने के लिए तैयार है.

इसे भी पढ़ें : अनिश्चितकालीन धरना : नियोजन नहीं मिलने पर अपनाएंगे उग्रवाद का रास्ता

राज्य के सभी जिलों में सामुदायिक रेडियो केंद्र खोलने की घोष्‍ाणा

वहीं अमित खरे ने राज्‍य सरकार को सुझाव दिया कि सुविधा के अनुसार किसी भी जिले में क्षेत्रीय फिल्‍म फेस्टिवल का आयोजन करें, सूचना और प्रसारण मंत्रालय हर संभव मदद करेगा. राज्य सरकार ने इसके लिए जरुरी आधारभूत संरचना के बारे में सूचना एवं प्रसारण सचिव को जानकारी दी. वहीं अमित खरे ने राज्य के सभी आकांक्षी जिलों में सामुदायिक रेडियो केंद्र खोलने की घोषणा की. अमित खरे ने बताया कि सामुदायिक रेडियो केंद्र खोलने से किसानों को फायदा होगा, वहीं रोजगार सृजन की संभावना है. साथ ही सरकारी योजनाओं को ग्रामीण स्‍तर तक सुलभ ही पहुंचाया जा सकता है. खरे ने दूरदर्शन और आकाशवाणी के साथ सहयोग पर भी राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: