न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वायुसेना के लापता विमान का अबतक नहीं कोई सुराग, खराब मौसम के कारण सर्च ऑपरेशन प्रभावित

493

New Delhi: भारतीय वायुसेना के विमान एएन-32 को लापता हुए करीब 42 घंटे से ज्यादा का वक्त बीच चुका है. लेकिन अबतक उसका कोई सुराग नहीं मिला है. विमान को ढूंढने की कोशिश जारी है.

बता दें कि एएन-32 विमान 8 क्रू मेंबर्स और 5 लोगों को लेकर असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के लिए निकला था. लेकिन सोमवार दोपहर 1 बजे के बाद से विमान से संपर्क नहीं हो पा रहा है. हालांकि, सर्च ऑपरेशन जारी है.

लेकिन खराब मौसम के कारण सर्च ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है. सैटेलाइट, स्पाई एयरक्राफ्ट, फायटर प्लेन, हेलिकॉप्टर और सेना के जवानों का ऑपरेशन अभी जारी है.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक : पति-पत्नी दोनों हैं पारा शिक्षक, मानदेय के अभाव में नहीं करा पा रहे बेटी का इलाज

खबर है कि लापता हुए विमान एएन-32 में आधुनिक एवियोनिक्स, रडार या आपातकालीन लोकेटर ट्रांसमीटर (ईएलटी) नहीं थे. विमान का आखिरी लोकेशन अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले में चीन सीमा के करीब मिला था. माना जा रहा है कि विमान इस लोकेशन के आस-पास ही होगा.

पांच जिलों की पुलिस ढूंढ रही विमान

Related Posts

 नजरबंद उमर अब्दुल्ला हॉलिवुड फिल्में देख रहे हैं, महबूबा मुफ्ती किताबें पढ़ समय बिता रही हैं

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने के फैसले से पहले कश्मीर के कई राजनेता नजरबंद किये गये थे.

SMILE

अरुणाचल प्रदेश के गृह मंत्री बमांग फेलिक्स ने बताया कि विमान की खोज में पांच जिलों के नागरिक और पुलिस-प्रशासन को ऑपरेशन में लगाया है.

इसके अलावे स्थानीय लोगों से भी अभियान में प्रशासन से जुड़ने की अपील की है. जिस क्षेत्र में विमान के लापता होने का अनुमान है, वह घने जंगलों और दुर्गम है. वहीं मौसम भी खराब है, लेकिन हमें कुछ खबरें मिलने की उम्मीद है.

इसरो से भी ली जा रही मदद

लापता विमान की खोजबीन के लिए भारतीय वायु सेना के सी-130, एएन-32 विमान, भारतीय वायुसेना के दो एमआई-17 और भारतीय सेना के एएलएच हेलीकॉप्टरों को लगाया गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) भी उपग्रहों की मदद से बचावकर्ताओं को सहयोग कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंःचुनावी बॉन्ड : EC को BJP, कांग्रेस सहित अन्य दलों ने अब तक नहीं दिया चंदे का ब्यौरा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: