न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#NirbhayaCase: फांसी से बचने के लिए नया ड्रामा, दोषी विनय ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

983

New Delhi:  निर्भया के चारों दोषियों को मौत की सजा के लिए  दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को ही डेथ वॉरंट जारी कर दिया था. 22 जनवरी को चारों दोषियों को सुबह 7 बजे फांसी पर होगी. इसे लेकर तिहाड़ प्रशासन ने अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है. हालांकि इससे पहले सभी दोषियों ने पूरा प्रयास किया कि उनके फांसी या तो टल जाये या फिर उसमें देरी होती चली जाये.

लेकिन इस बीच चारों दोषियों में से एक विनय कुमार ने गुरूवार को क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल की है. अब अगर विनय से क्यूरेटिव पिटीशन पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होती है. साथ ही स मामले में यदि 14 दिनों के अंदर फैसला नहीं आता है तो ऐसे में निर्भया के चारों दोषियों की फांसी की तारीख आगे बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ें – हाल स्टील सिटी बोकारो काः गंदगी से फैली महामारी तो जिम्मेदार कौन? सरकार, BJP MP-MLA, जिला प्रशासन या BSL

राष्ट्रपति के पास भी लंबित है मर्सी पिटीशन 

वहीं क्यूरेटिव पिटीशन के अलावा निर्भया के चारों दोषियों की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास लंबित भी है. चारों की दया याचिका पर राष्ट्रपति राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भी इन दोषियों की दया याचिका लंबित  भी यदि 14 दिनों में फैसला नहीं लेते हैं तो उस परिस्थिती में भी फांसी की तारीख आगे बढ़ सकती है. वहीं गौर करने वाली बात ये भी है कि चारों दोषियों में से सिर्फ एक दोषी ने ही राष्ट्रपति के पास दया याचिका दी है. बाकि तीन दोषियों ने अभी तक मर्सी पिटीशन नहीं है.

इसे भी पढ़ें – बकोरिया कांड: CBI जांच में पुलिस के खिलाफ मिले साक्ष्य, कोबरा अफसरों और जवानों से होगी पूछताछ

Whmart 3/3 – 2/4

क्यूरेटिव पिटीशन क्या है

क्यूरेटिव पिटीशन के बारे में यहां बताते चलें कि क्यूरेटिव पिटीशन यानि कि इसे उपचार याचिका भी कहते हैं. जो ये  पुनर्विचार याचिका से थोड़ा अलग हटकर होती है. क्यूरेटिव पिटीशन के अंतर्गत इसमें फैसले की जगह पर पूरे केस में वैसे मुद्दे या फिर विषय चिन्हित किये जाते हैं. जिसपर उन्हें लगता है कि उन बिंदुओं पर ध्यान देने की जरूरत है.

तिहाड़-प्रशासन ने फांसी की सभी तैयारी पूरी की

तिहाड़-प्रशासन ने फांसी की सभी तैयारी पूरी कर ली है. चारों दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाने के लिए तिहाड़ जेल में करीब 25 लाख रुपये की लागत से एक नया फांसी घर तैयार किया गया है.

तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने भी कहा था कि एक साथ अब चारों दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी देने की व्यवस्था कर ली गयी है. अदालत के आदेश के बाद जेल स्तर पर फांसी देने में किसी तरह की देरी नहीं होगी.

इसे भी पढ़ें – #NirbhayaCase: दोषियों को फांसी देने में बक्सर जेल में बने फंदे का हो सकता है इस्तेमाल

 

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like