Crime NewsJharkhandRanchi

NIA की हजारीबाग में बड़ी कार्रवाई, आम्रपाली-मगध कोलियरी में लेवी के मामले में बीजीआर के जीएम रघुराम रेड्डी का घर सील

Ranchi/Hazaribagh : एनआईए ने हजारीबाग में एक बड़ी कार्रवाई की है. चतरा जिले की आम्रपाली-मगध कोलियरी में लेवी के मामले में एनआईए ने बीजीआर कंपनी के जीएम रघुराम रेड्डी के किराये के घर पर छापेमारी की. एनआईए ने हजारीबाग स्तिथ पंडित जी रोड के दीनानाथ यादव के मकान में किराये पर रह रहे बीजीआर कंपनी के जीएम रघुराम राम रेड्डी के घर पर छापामारी की. हालांकि, इस दौरान घर में कोई नहीं था. एनआईए की टीम ने घर को सील कर दिया है. एनआईए की टीम को घर के बाहर ऑडी की दो महंगी गाड़ियां मिलीं. बताते चलें कि बीजीआर कंपनी ने आम्रपाली-मगध कोलियरी में ओबी हटाने और उसकी ट्रांसपोर्टिंग करने का काम करती थी.

इसे भी पढ़ें- एनजीओ रोज, इसडो और सहयोग विलेज से बालगृहों का संचालन वापस लेने की अनुशंसा

लेवी से जुड़े मामले में हुई एनआईए की कार्रवाई

Catalyst IAS
ram janam hospital

एनआईए की टीम चतरा जिले की आम्रपाली-मगध कोलियरी में लेवी के बड़े खेल की जांच कर रही है. एनआईए  की टीम ने मामले में कुछ लोगों से पूछताछ भी की है. बताया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान टीम को कुछ अहम सुराग मिले हैं. आम्रपाली-मगध ही नहीं, एनआईए खलारी-बचरा, पिपरवार आदि कोल प्रोजेक्टों से टीपीसी, पुलिस-पत्रकार, नेता आदि के गठजोड़ से करोड़ों की अवैध लेवी तंत्र और बेनामी संपत्तियों की भी जांच कर रही है. एनआईए की टीम को टीपीसी के मुनेश गंझू, कोहराम, बिंदु गंझू आदि हार्डकोर नक्सलियों से पूछताछ में कई सफेदपोशों के नाम हाथ लगे हैं, जो लेवी की रकम को कई तरह के व्यापार में लगाकर ब्लैक मनी को व्हाइट मनी बनाते हैं.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें- अपराध की राजधानी बनती जा रही है रांची, पुलिस को दे रहे चुनौती

निशाने पर कई सफेदपोश

पुख्ता सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, एनआईए की टीम आनेवाले कुछ दिनों में और गिरफ्तारी कर सकती है. टीम को कई सफेदपोश लोगों के नाम हाथ लगे हैं. इनके अलावा कुछ नेता, अधिकारी, पत्रकार भी लेवी में हिस्सा लेते थे. एनआईए की टीम को सभी की हिस्सेदारी की पूरी रिपोर्ट हाथ लगी है. इसी आधार पर एनआईए अब आगे की कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड निवेश के लिए सबसे अनुकूल प्रदेश, आइये झारखंड : रघुवर दास

लेवी का पैसा मेट्रो सिटी में हो रहा है इन्वेस्ट

एनआईए की टीम को यह जानकारी हाथ लगी है कि अम्रपाली-मगध और चतरा जिले की दूसरी कोलियरियों से लेवी का पैसा वसूलने के बाद मेट्रो सिटी में दूसरे बिजनेस में इन्वेस्ट किया जा रहा है. यह इन्वेस्टमेंट देश के कई महानगरों में रियल एस्टेट, शो रूम्स, एजेंसी में किया जा रहा है. एनआईए की टीम को कई नक्सलियों, अधिकारियों और सफेदपोशों के रिश्तेदारों के नाम ज्वॉइंट इन्वेस्टमेंट करने की भी जानकारी मिली है. सबसे बड़ी बात कि बीजीआर के मैनेजर ने खुद स्वीकार किया था कि लेवी तंत्र की हिस्सेदारी में राज्य के आलाधिकारी, मंत्री से संतरी तक शामिल हैं. हार्डकोर नक्सलियों ने स्वीकार किया था कि किस कंपनी, आउटसोर्सिंग कंपनी, ट्रांसपोर्टरों से किसको कितनी लेवी मिलती है और लेवी का किसे कितना हिस्सा मिलता है. बताया जा रहा है कि हजारीबाग के कई सफेदपोश, व्यपारी भी एनआईए के रडार पर हैं.

Related Articles

Back to top button