न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मी टू… विवाद : कोंकणा, जोया और अन्य महिला निर्देशकों ने दोषसिद्ध लोगों के साथ काम नहीं करने का किया फैसला

भारत के मी टू अभियान को अपना समर्थन देने की प्रतिबद्धता जाहिर की है.

98

Mumbai : भारतीय फिल्म उद्योग से महिला फिल्मकारों ने यौन उत्पीड़न की अपनी कहानियों को साझा करने वाले लोगों का समर्थन करने और दोषी साबित होने वाले किसी के साथ भी काम नहीं करने का फैसला किया है.

कोंकणा सेन शर्मा, नंदिता दास, मेघना गुलजार, गौरी शिंदे, किरण राव, रीमा कागती और जोया अख्तर जैसी कई निर्देशक उन 11 महिला फिल्म निर्माताओं में शामिल हैं. जिन्होंने भारत के मी टू अभियान को अपना समर्थन देने की प्रतिबद्धता जाहिर की है.

इसे भी पढ़ें : मी टू… विवाद : केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने अपना इस्तीफा ईमेल से भेजा ?

hosp3

महिलाओं के साथ पूरी एकजुटता के साथ हैं खड़े

निर्देशकों द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि महिला और फिल्म निर्माताओं के रूप में, हमने #मी टू इंडिया अभियान को अपना समर्थन देने का फैसला किया है. हम उन महिलाओं के साथ पूरी एकजुटता के साथ खड़े हैं. जो यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर पूरी ईमानदारी के साथ आगे आई हैं.

बयान में कहा गया है कि हम कार्यस्थल में सभी के लिए एक सुरक्षित और समान वातावरण बनाने में मदद के लिए जागरूकता फैलाने के लिए यहां हैं. हमने दोष साबित होने वाले लोगों के साथ काम न करने का भी रूख अपनाया है. हम उद्योग में अपने सभी सहकर्मियों से भी ऐसा करने के लिए आग्रह करते हैं.

इसे भी पढ़ें : मी टू… : लौटे एमजे अकबर, पहले स्पष्टीकरण, फिर अकबर की किस्मत का फैसला करेगी मोदी सरकार

महिला फिल्म निर्माताओं की इस सूची में अलंकृता श्रीवास्तव, नित्या मेहरा, रूचि नारायण और सोनाली बोस शामिल हैं.

बंबई हाईकोर्ट के न्यायाधीश ने भी किया था समर्थन

न्यायमूर्ति पटेल ने गुरूवार को कहा कि वह उन महिलाओं का पूरी तरह समर्थन करते हैं, जिन्होंने यौन उत्पीड़न के अनुभवों को साझा करने और प्रताड़ित करने वालों का नाम उजागर करने का निर्णय किया है . इंडियन मर्चेंट चैम्बर की महिला शाखा की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए न्यायमूर्ति पटेल ने अमेरिकी हास्य अभिनेता बिल कॉस्बी के मामले का हवाला दिया. बिल को 14 साल पहले की यौन हिंसा की घटना के सिलसिले में पिछले महीने सजा हुई है.

इसे भी पढ़ें : मी टू…अभियान :  एमजे अकबर पर लगे आरोपों की सत्यता की जांच होगी :  अमित शाह

उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन महिलाओं का पूरी तरह समर्थन करता हूं जो सामने आ रही हैं और जिनके पास बोलने का साहस है क्योंकि किसी वक्त बोलने के लिए बहुत अधिक साहस की जरूरत होती है .’’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: