न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मी टू…अभियान :  एमजे अकबर पर लगे आरोपों की सत्यता की जांच होगी :  अमित शाह

सूत्रों के अनुसार भाजपा अकबर पर लगे आरोपों को गंभीरता से ले रही है.

127

NewDelhi   : मी टू… मुहिम में फंसे विदेश राज़्य मंत्री एमजे अकबर की मुसीबत बढ़ती चली जा रही है. उन पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि एमजे अकबर पर जो आरोप लगे हैं कि उनकी जांच होगी. साथ ही कहा कि मंत्री पर लगे आरोपों की सत्यता की भी जांच की जायेगी.  देखना होगा कि यह सच है या गलत.  सत्यता की भी के अनुसार  एमजे अकबर पर लगाये गये आरोपों और जिसने आरोप लगाये हैं, उसकी सत्यता जांचनी होगी.  कहा कि आप मेरे का नाम का इस्तेमाल कर कुछ भी पोस्ट कर सकते हैं.  हालांकि इस क्रम में अमित शाह ने कहा कि वे इस पर जरूर विचार करेंगे. बता दें कि भाजपा लीडरशिप उस संदर्भ में आगे आयी है जब मी टू… अभियान के जरिए कुछ महिला पत्रकारों द्वारा एमजे अकबर पर उनके विभिन्न मीडिया संस्थानों में सुप्रीम पदों पर रहते हुए गलत बर्ताव करने का आरोप लगाया गया है.  सूत्रों के अनुसार भाजपा अकबर पर लगे आरोपों को गंभीरता से ले रही है.

अमित शाह के अनसार सोशल मीडिया अविश्वसनीय आरोपों के लिए एक मंच भी हो सकता है.  चाहे आरोप कितने ही पुराने क्यों ना हों.  लेकिन एमजे अकबर विवाद ने भाजपा को परेशान कर दिया है. परेशानी इसलिए क्योंकि मोदी सरकार द्वारा महिलाओं के पक्ष में कई महत्वपूर्ण फैसले लिये गये हैं.

 इसे भी पढ़ेंः #MeToo पर मेनका गांधी ने कहा जांच के लिए बनायी जाएगी 4 सदस्‍यीय कमेटी

अकबर ने मेरी सीमाओं का उल्लंघन किया, मेरे भरोसे और माता-पिता को धोखा दिया

 

एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न का एक और आरोप लगा है. माजली डी पुय कैम्प नामक पत्रकार ने एमजे अकबर पर गलत व्यवहार का आरोप लगाया है. माजली डी पुय कैम्प के अनुसार  2007 में एशियन एज में इंटर्नशिप के आखिरी दिन एमजे  ने उसके साथ गलत व्यवहार किया.  इस क्रम में कहा कि इंटर्नशिप के दौरान महत्वपूर्ण काम यह था कि अगले दिन पेपर छपने से पहले फ्रंट पेज एमजे अकबर दिखाना होता था.  उस समय अकबर छप्पन साल के थे और माजली डी पुय कैम्प की उम्र महज 18 साल थीं.  माजली ने एक मेल के जरिए जानकारी दी है कि एमजे अकबर ने उसके साथ जो किया वह बहुत घृणित था. अकबर ने मेरी सीमाओं का उल्लंघन किया, मेरे भरोसे और माता-पिता को धोखा दिया.

माजली डी पुय कैम्प की एमजे अकबर से मुलाकात उनके माता-पिता ने ही कराई थी.  बुरे दिन को याद करते हुए माजली डी पुय ने कहा है कि उन्होंने मुझे मेरे कंधों के नीचे पकड़ लिया और मुझे अपनी ओर खींच लिया.  मेरे मुंह पर चूमा और जबरन अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी.

 इसे भी पढ़ेंः ममता को राहत, दुर्गा पूजा समितियों को दस-दस हजार देने पर सुप्रीम कोर्ट का रोक से इनकार  

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मी टू मुहिम को अच्छा बताया

राज्यसभा सांसद एवं भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मी टू मुहिम को अच्छा बताया है. स्वामी ने इस मामले में कहा कि यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे एमजे अकबर के बारे में फैसला पीएम मोदी को करना है.  क्योंकि पीएम ने उन्हें नियुक्त किया है. वे सार्वजनिक बयान नहीं दूंगा. हालांकि कहा कि अकबर के खिलाफ लगाये जा रहे आरोप उनके मंत्री बनने से पहले के समय के हैं, जब वह संपादक थे.

स्वामी ने कहा कुछ मामले हो सकते हैं जब कोई किसी को जानबूझकर फंसाएये, लेकिन ऐसा हर चीज के साथ होता है.  स्वामी के अनुसार महिलाओं को बोलने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: