न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

MeToo कैंपेन : लाख टके का सवाल, यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे एमजे अकबर इस्तीफे देंगे?

MeToo कैंपेन की चपेट में पत्रकार रह चुके केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर भी आ गये हैं. उन पर भी यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं. बता दें कि एमजे अकबर पर कई महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं.

166

NewDelhi : MeToo कैंपेन की चपेट में पत्रकार रह चुके केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर भी आ गये हैं. उन पर भी यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं. बता दें कि एमजे अकबर पर कई महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं.  एमजे अकबर मामले में मोदी सरकार पर विपक्ष हमलावर है. कांग्रेस एमजे अकबर के इस्तीफे की मांग कर रही है. खबरों के अनुसार सरकार को इस मसले पर खुद एमजे अकबर के बयान का इंतजार है. मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि सरकार पर अकबर के इस्तीफे का दबाव बढ़ रहा है. कहा जा रहा है कि सरकार एमजे अकबर से इस्तीफा मांग सकती है. लेकिन सरकार के उच्चपदस्थ सूत्रों ने इस्तीफे की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है. सूत्रों के अनुसार एमजे अकबर के इस्तीफे के संदर्भ में जितने भी खबरें हैं, सभी काल्पनिक हैं.

खबरों के अनुसार महिला पत्रकारों के साथ यौन दुर्व्यवहार के आरोपों से घिरे विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर इस्तीफ़े के दबाव की ख़बर  केंद्र सरकार के शीर्ष सूत्रों ने ख़ारिज कर दी है. बताया गया है कि  विदेश दौरे से लौटने के बाद उनका पक्ष सुना जायेगा. ऐसी खबरे हैं कि एमजे अकबर बीच में ही विदेश यात्रा से देश लौट सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः द क्विंट के मालिक के आवास और कार्यालय पर आयकर का छापा,  राघव बहल एडिटर्स गिल्ड में ले जायेंगे मामला 

silk_park

 आखिर अपने मंत्री पर सुषमा स्वराज चुप क्यों हैं?

एमजे अकबर के मामले में कांग्रेस ने जांच की मांग करते हुए उनके इस्तीफे की भी मांग की है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयपाल रेड्डी ने मीडिया से कहा कि एमजे अकबर खुद आकर मामले पर सफाई दें या फिर इस्तीफा दें.
इस क्रम में कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने सुषमा स्वराज की चुप्पी पर सवाल उठाये. कहा कि आखिर अपने मंत्री पर सुषमा स्वराज चुप क्यों हैं? उदित राज पर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है. बता दें कि  केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री अकबर पर दो महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं.  लगभग नौ महिला पत्रकारों ने विस्तार से बयान किया है कि किस तरह एमजे अकबर ने संपादक रहते हुए अपने पद का बेजा इस्तेमाल करते हुए उनके साथ यौन दुर्व्यवहार किया. कुछ पत्रकारों के अनुसार अकबर ने अपने केबिन में बुला कर कई बार उनके साथ दुर्व्यवहार किया. होटलों में बुला कर नौकरी के लिए इंटरव्यू करने, अश्लील बातें करने के आरोप भी  अकबर पर लगाये गये हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: