न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

द क्विंट के मालिक के आवास और कार्यालय पर आयकर का छापा,  राघव बहल एडिटर्स गिल्ड में ले जायेंगे मामला 

आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को द क्विंट (The Quint)  वेबसाइट के मालिक राघव बहल के नोएडा स्थित घर और कार्याल्य पर छापा मारा है.

332

NewDelhi : आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को द क्विंट (The Quint)  वेबसाइट के मालिक राघव बहल के नोएडा स्थित घर और कार्याल्य पर छापा मारा है. यह जानकारी पीटीआई ने दी है. इनकम टैक्स विभाग की यह कार्रवाई टैक्स चोरी की आशंका को देखते हुए दी है. खबरों के अनुसार राघव बहल के दिल्ली से सटे नोएडा वाले आवास पर आयकर विभाग ने कार्रवाई की. जान लें कि राघव बहल नेटवर्क 18 ग्रुप के संस्थापक रहे चुके हैं, वर्तमान समय में राघव द क्विंट वेबसाइट का संचालन करते हैं. जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की टीम टैक्स से जुड़े दस्तावेज खंगालने के लिए उनके घर और कार्यालय पर पहुंचीं है. छापामारी के बाद राघव बहल ने  इस मामले को एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के सामने उठाने की बात कही है. कहा कि जब मैं मुंबई में था, तब सुबह इनकम टैक्स के दर्जनों अफसर मेरे घर और द क्विंट दफ्तर पर सर्वे के लिए पहुंचे.

इसे भी पढ़ेंः राफेल डील पर फ्रांस मीडिया का दावा,  दसॉ एविएशन के पास रिलायंस के अलावा कोई दूसरा विकल्प था ही नहीं

राघव बहल ने कहा कि हम पूरी तरह से टैक्स चुकाते हैं

silk_park

राघव बहल ने कहा कि हम पूरी तरह से टैक्स चुकाते हैं. हम उन्हें सभी वित्तीय दस्तावेज उपलब्ध करायेंगे. राघव बहल ने कहा कि उन्होंने  एक अधिकारी  मिस्टर यादव से अनुरोध किया है कि वह किसी भी ऐसे  मेल और दस्तावेज को न देखें या उठायें, जिसमें बहुत गंभीर और संवेदनशील पत्रकारिता की सामग्री हो. कहा कि अगर वे ऐसा करेंगे तो हम विरोध करेंगे. राघव बहल ने उम्मीद जताई कि एडिटर्स गिल्ड इस मामले में उन्हें  सपोर्ट करेगा. बहल ने अफसरों से निवेदन किया है कि वे अपने स्मार्टफोन का दुरुपयोग कर अनाधिकारिक रूप से किसी प्रति की फोटो न लें. बताया कि वे  दिल्ली के रास्ते पर हैं.

एक वरिष्ठ ऑफिसर के अनुसार दो साल पहले एक फाइनेंस कंपनी से जुड़े कथित फ्रॉड के मामले में जांच की जा रही है.  कहा कि लंबी अवधि के फर्जी पूंजीगत लाभ के मामले से जुड़े दस्तावेज और अन्य सबूतों की तलाश की जा रही है. एक अन्य इनकम टैक्स अधिकारी ने जानकारी दी कि  यह जांच कानपुर के डॉयरेक्टर जनरल ऑफ इनकम टैक्स (सीबीडीटी) के द्वारा की जा रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: