Crime NewsJharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

लोकसभा चुनाव : नक्सली संगठनों ने बढ़ायी अपनी सक्रियता, नये पुराने साथी हो रहे एकजुट

Saurabh Singh

Ranchi : लोकसभा चुनाव को देखते हुए नक्सली संगठनों ने हाल के दिनों में झारखंड में सक्रियता बढ़ा दी है. चुनाव में बाधा पहुंचाने की नीयत से ये संगठन राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों में एक बार फिर अपने पुराने साथियों को एकजुट करने में लगे हुए हैं. हाल के दिनों में नक्सलियों की बढ़ती सक्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पुलिस के द्वारा लगातार इन संगठनों पर हमले क्षति पहुंचाने के बावजूद एक महीने के दौरान नक्सली और पुलिस सात बार आमने-सामने हो चुके हैं.

लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का जारी किया फरमान

Catalyst IAS
ram janam hospital

मिली जानकारी के अनुसार भाकपा माओवादियों ने आगामी लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का फरमान जारी किया है. निचले स्तर के गुरिल्ला कैडरों को इसमें असरदार बनाने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश माओवादी नेताओं की ओर से दिये गये हैं. इसी की वजह से नक्सली संगठन ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. एक कदम पीछे और दो कदम आगे की रणनिति पर चलने वाले नक्सली संगठन हाल के दिनों लगातार पुलिस से पराजय मिलने के बाद चुनाव के मद्देनजर नयी नीति बनाने पर काम कर रहे हैं. नक्सलियों की ओर से प्रायः वोट बहिष्कार का नारा लगता रहा है. नक्सली संगठन इस चुनाव में कोई नया गुल खिला सकते हैं, जिससे चुनाव में बाधा पहुंचे.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

बिहार-झारखंड की सीमा पर जमा किये जा रहे हैं हथियार

मिली जानकारी के अनुसार आगामी लोकसभा चुनाव के पहले बिहार और झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों में अवैध हथियारों को जमा किया जा रहा है. इस तरह की सूचना मिलने के बाद दोनों राज्यो की पुलिस सतर्क है.  मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के साथ लोकसभा चुनाव के मद्देनजर हुई बैठक में हथियार तस्करी का मुद्दा भी सामने लाया गया था. मुख्य चुनाव आयुक्त को बिहार और झारखंड पुलिस के अधिकारियों ने यह सूचना दी है कि आम चुनाव को बाधित करने के लिए बड़े पैमाने पर बिहार-झारखंड की सीमा पर हथियार जमा किये जा रहे हैं.

पिछले माह पुलिस-नक्सली के बीच हुई मुठभेड़

पिछले एक महीने के आंकड़ों को देखें, तो नक्सलियों को इस दौरान पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में काफी नुकसान भी उठाना पड़ा है. 13 जनवरी को हार्डकोर नक्सली 10 लाख का इनामी ताला दा शिकारीपाड़ा के छातुपड़ा जंगल में मारा गया. एके 47 बरामद किया गया. नौ जनवरी को गिरिडीह के पीरटांड़ और खुखरी थाना क्षेत्र में पुलिस ने विस्फोटक के साथ दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया. चार जनवरी को चतरा के कुरखेता जंगल में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने एक नक्सली को मार गिराया. आलोक दस्ता के सक्रिय सदस्य अजय यादव को रायफल के साथ गिरफ्तार किया. 11 जनवरी को लातेहार के गारू थाना पुलिस और सीआरपीएफ 214वीं बटालियन के जवानों ने छापामारी की. अभियान में पीरी जंगल से बोरे में पैक नौ किलोग्राम विस्फोटक पाउडर, 30 हैंड ग्रेनेड, थ्री नॉट थ्री की 200 जीवित गोलियां, 7.65 एमएम की 55 जीवित गोलियां, हैंड ग्रेनेड बनाने का 60 पीस कैप, 75 पीस लंबी पाइप व 140 पीस बैकसाइड पैकिंग के सामान बरामद किये गये. सात जनवरी को गिरिडीह की पुलिस ने भेलवाघाटी थाना की पुलिस और सीआरपीएफ बी7 बटालियन ने सर्च ऑपरेशन के दौरान भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया. इस दौरान नौ पैकेट विस्फोटक, एक केन बम, नक्सली साहित्य, वर्दी, नक्सली पिट्ठू, डेटोनेटर, मोबाइल, तार सहित कई सामान बरामद किये गये. हार्डकोर नक्सली दारोगी यादव को भी गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें – मनरेगा कानून के 13 सालः राज्यभर में मजदूरों का प्रदर्शन, रैलियां और सम्मेलन

इसे भी पढ़ें – उधर मंच पर मुख्यमंत्री रघुवर दास कर रहे थे बेटियों का सम्मान, इधर पुलिस उतरवा रही थी बेटियों के काले दुपट्टे, शॉल और बुर्के

Related Articles

Back to top button