न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#LokSabha : भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने कहा, रामायण, महाभारत या बाइबल की तरह सत्य नहीं है #GDP

जीडीपी से ज्यादा महत्वपूर्ण है लोगों का सतत विकास.  लोगों को खुशी मिल रही है या नहीं मिल रही है. जीडीपी से अधिक जरूरी है आम आदमी का स्थायी आर्थिक कल्याण होना, जो हो रहा है.

76

NewDelhi :  गोड्डा (झारखंड) से भाजपा  सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा में  GDP को लेकर कहा कि जीडीपी 1934 में आयी, इससे पहले कोई जीडीपी नहीं थी.  जीडीपी को बाइबल, रामायण या महाभारत मान लेना सत्य नहीं है. कहा कि भविष्य में जीडीपी का बहुत ज्यादा उपयोग नहीं होगा. उन्होंने कहा कि आज नयी थ्योरी है आम आदमी का स्थायी आर्थिक कल्याण, हो रहा है या फिर नहीं हो रहा है.  जीडीपी से ज्यादा महत्वपूर्ण है लोगों का सतत विकास.  लोगों को खुशी मिल रही है या नहीं मिल रही है. जीडीपी से अधिक जरूरी है आम आदमी का स्थायी आर्थिक कल्याण होना, जो हो रहा है.

hotlips top

इसे भी पढ़ें :  राहुल बजाज ने कहा- मोदी सरकार के खिलाफ बोलने से डर लगता है, शाह का जवाब- सुधार करेंगे, कांग्रेस BJP पर हमलावर

निशिकांत दुबे  के बयान पर  सदन में जमकर हंगामा हुआ.

जान लें कि लगातार घटती आर्थिक विकास दर और GDP का मुद्दा सोमवार को लोकसभा में उठा. इसी क्रम में  गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने  कहा कि जीडीपी को बाइबल, रामायण या महाभारत मान लेना सत्य नहीं है.  निशिकांत दुबे  द्वारा GDP को लेकर दिये गये  बयान पर सदन में जमकर हंगामा हुआ. निशिकांत दुबे पहले भी चर्चाओं में रह चुके हैं. इससे पहले सांसद निशिकांत दुबे कार्यकर्ता से पांव धुलवाने के मामले में विवादों में घिर गये थे.

30 may to 1 june

अपने संसदीय क्षेत्र में कनभारा पुल के शिलान्यास समारोह के दौरान कार्यकर्ता से पांव धुलवाने के मामले में भी विवादों में रहे थे. बाद में वीडियो सोशल मीडिया में काफी वायरल हो गया था. खुद सांसद ने भी अपनी पैर धुलवाते हुए तस्वीर फेसबुक पर लगाई थी. कार्यकर्ता से पैर धुलवाने को लेकर जब विवाद बढ़ने लगा था तो सांसद ने इस मामले में राजनीति नहीं करने की हिदायत दी थी.

इसे भी पढ़ें :  #LokSabha : #Sitharaman ने कहा, आर्थिक गतिविधियां बढ़ाने के लिए कार्पोरेट कर में कटौती, विपक्ष बोला, वित्तीय घाटा बढ़ेगा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like