NationalTOP SLIDER

जानिए पीएम मोदी के साथ कश्मीरी नेताओं की बैठक में आखिर क्या चर्चा हुई

Uday Chandra Singh

New Delhi: जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक खत्म हो गयी. करीब साढ़े तीन घंटे तक चली बैठक में 8 राजनीतिक दलों के 14 नेता शामिल हुए. बैठक में जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दोबारा देने की मांग जोर-शोर से उठायी गयी. साथ ही, राज्य में जल्द चुनाव कराने की बात भी कही गयी. बैठक में मौजूद नेताओं ने बताया कि राज्य के बंटवारे पर भी नाराजगी जतायी गयी. इसके अलावा विकास के मुद्दे पर भी चर्चा की गयी.

पीएम और गृहमंत्री ने सबकी बातें सुनी. पीएम ने कहा कि डिलिमिटेशन की प्रक्रिया खत्म होने पर चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी. उन्होंने कश्मीरी नेताओं से कहा कि दिल्ली और दिल की दूरी खत्म करना चाहता हूं.

advt

इसे भी पढ़ें :PM मोदी के ‘करीब’ बैठे फारूक, बैठक से पहले महबूबा के बयान से किया किनारा

पीएम ने यह भी कहा कि हम पूर्ण राज्य पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं. पीएम ने कहा कि जम्मू कश्मीर का भविष्य बेहतर बनायेंगे.

पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा जम्मू कश्मीर को जल्द पूर्ण राज्य का दर्जा दिये जाने की मांग करते हुए कहा कि राज्य में तुरंत विधानसभा चुनाव कराया जाये.

उन्होंने कश्मीरी पंडितों की वापसी और पुनर्वास की व्यवस्था पर भी तेजी से काम किये जाने पर जोर दिया. उन्होंने राजनीतिक बंदियों को भी जल्द छोड़े जाने की मांग की.

इसे भी पढ़ें :टोल प्लाजा के लिए सड़कों का चयन इस तरह किया जाये कि उसका आम जनता पर बोझ नहीं पड़े : CM

पीएम मोदी की बैठक में शामिल हुए अल्फात बुखारी ने बताया कि बैठक सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई. बैठक में जम्मू-कश्मीर के परिसीमन पर बात हुई. सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी ने बैठक में आये सभी नेताओं को अपनी बात रखने का बराबर मौका दिया.

पीएम आवास पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई इस बैठक में फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला, गुलाम नबी आजाद, रविन्द्र रैना कवींद्र गुप्ता, निर्मल सिंह, सज्जाद लोन, भीम सिंह समेत अन्य कई नेता शामिल रहे.

इनके अलावा बैठक में में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, NSA अजीत डोभाल, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के अलावा केंद्र के अन्य कई अफसर भी शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें :ग्राम प्रधान, पड़हा राजा, मानकी मुंडा, डाकुआ, पैनभरा, कोटवार का हो ग्रुप बीमा, मिले पीएफ

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: