National

किसान आंदोलन : दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर झड़प, पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े , किसानों ने पत्थर चलाये…

किसानों के आंदोलन कारण मेट्रो सेवाएं प्रभावित हुई हैं. साथ ही आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

NewDelhi :  आज शुक्रवार को टिकरी बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प की खबर है.  जानकारी के अनुसार डबवाली बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों ने पुलिस के वाहनों सहित  वज्र वाहन और वॉटर कैनन पर भी कब्जा जमा लिया है. दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर माहौल तनावपूर्ण है. किसानों को हटाने  के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े हैं. किसानों द्वारा पत्थरबाजी की जा रही है.

जान लें कि  किसान बिल के खिलाफ पंजाब-हरियाणा के किसान का हल्ला जारी है.   किसान दिल्ली बॉर्डर पर आज भी जमे हुए हैं. दिल्ली  की सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. दिल्ली प्रशासन किसानों का दिल्ली कूच रोकने के लिए तत्पर है. जानकारी है कि किसान अपने साथ महीने भर का राशन लेकर चले हैं.    

इसे भी पढ़े :  दिल्ली आ रहे किसानों को रोकने लिए सड़कों पर बोल्डर, कंटीले तार और वाटर कैनन

 गुरुवार को दिन भर किसानों और पुलिस के बीच झड़प होती रही

बता दें कि गुरुवार को दिन भर किसानों और पुलिस के बीच झड़प होती रही. किसानों पर वाटर कैनन  के इस्तेमाल के साथ  आंसू गैस के गोले छोड़े गये.  किसानों ने भी पुलिस पर पत्थरबाजी की.  देर शाम  किसानों का बड़ा ग्रुप दिल्ली से करीब 100 किलोमीटर दूर पानीपत में टोल प्लाजा पहुंच गया. यहां किसानों ने रात गुजारी.

इसे भी पढ़े :   प्रधानमंत्री मोदी ने संविधान दिवस पर वन नेशन, वन इलेक्शन को भारत की जरूरत बताया…

सोनीपत-पानीपत हलदाना बॉर्डर को पूरी तरह सील

 किसानों का प्रदर्शन  रोकने के लिए सिंधु बॉर्डर पर कंटीले तार लगाकर, पत्थर और मिट्टी डालकर बैरिकेडिंग की गयी है. दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर को सील करके वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर रखा है. दिल्ली से हरियाणा और हरियाणा से दिल्ली जाने से रोकने के लिए दोनों तरफ के रास्ते बंद कर दिये गये हैं. सोनीपत-पानीपत हलदाना बॉर्डर को पूरी तरह सील कर दिया गया है.

पुलिस का कहना है कि केन्द्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान अगर दिल्ली की सीमाओं पर पहुंच भी जाते हैं जो भी उन्हें दिल्ली में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जायेगी.

किसानों के आंदोलन कारण मेट्रो सेवाएं प्रभावित हुई हैं. साथ ही आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: