National

कर्नाटक : कांग्रेस नेता व #FormerDeputyCMGParameshwara पर आयकर का शिकंजा, करीबी ने आत्महत्या की

Bengaluru :  कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के विश्वासपात्र  रमेश  ने शनिवार को यहां कथित रूप से आत्महत्या कर ली. पुलिस ने यह जानकारी दी. जान लें कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने कुछ दिन पहले पूर्व उपमुख्यमंत्री के आवास, कार्यालय और शिक्षा संस्थानों पर छापे मारे थे.

आयकर विभाग के अनुसार गुरुवार को मारे गये छापों में लगभग साढ़े चार करोड़ से ज्यादा की रकम बरामद की गई है.पुलिस ने बताया कि सुबह भारतीय खेल प्राधिकरण के मैदान के निकट एक पेड़ से रमेश को लटकते हुए पाये गये .

इसे भी पढ़ें : #RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने दी चेतावनी, कहा- गंभीर संकट की तरफ बढ़ रही भारत की अर्थव्यवस्था

आयकर विभाग ने जी परमेश्वर के विश्वासपात्र  से  पूछताछ की थी

पुलिस ने बताया कि रमेश रामनगर में मेल्लईहल्ली के रहने वाले थे.रमेश ने एक टाइपिस्ट के रूप में कांग्रेस के साथ अपना कार्यकाल शुरू किया था और वह परमेश्वर के करीबी बन गये थे. विभाग के अधिकारियों ने दो दिन पहले परमेश्वर के आवास, कार्यालय और सिद्धार्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स में छापे मारे थे और रमेश से भी पूछताछ की थी.

इसे भी पढ़ें :  #Modi-XiJinping meeting में आतंकवाद पर हुआ मंथन, पर कश्मीर मुद्दा गायब रहा, चीनी राष्ट्रपति नेपाल रवाना

आईटी अधिकारियों ने परमेश्वर को मंगलवार को बुलाया 

इस संबंध में परमेश्वर ने कहा कि उन्होंने रमेश को साहसी बनने और स्थिति का निडरतापूर्वक सामना करने के लिए कहा था.उन्होंने पत्रकारों से कहा, पता नहीं उसने क्यों आत्महत्या कर ली. आज सुबह भी मैंने उससे बात की और उनसे निडर बने रहने को कहा था.

इस बीच आयकर विभाग के अधिकारियों ने परमेश्वर को मंगलवार को उनके समक्ष पेश होने के लिए कहा है. परमेश्वर ने बताया कि आईटी अधिकारियों ने उन्हें मंगलवार को बुलाया है. उन्होंने यहां कहा,इसलिए मैं मंगलवार को वहां जाऊंगा.

कांग्रेस नेता ने कहा कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने उनसे कहा है कि कुछ छात्रों की शिकायतों के बाद छापे की कार्रवाई की गयी थी. उन्होंने छापों को कोई राजनीतिक रंग देने से इनकार करते हुए कहा कि वह आयकर अधिकारियों के निष्कर्षों का जवाब तैयार कर रहे है.

आयकर विभाग ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा था कि उसने कर्नाटक में नौ अक्टूबर को एक प्रमुख व्यवसाय समूह के परिसरों पर छापे मारे थे और यह समूह कई शैक्षणिक संस्थानों का संचालन करता है.

इसे भी पढ़ें :  #Modi-XiJinpingMeeting ‘चेन्नई कनेक्ट’ के साथ शुरू होगा भारत-चीन सहयोग का नया युग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: