JharkhandMain SliderRanchi

JSMDC-1: 46 लाख CFT बालू स्टॉक में फिर भी किल्लत, कारोबारियों को मिल रहा महंगा 

Akshay Kumar Jha

Ranchi: 10 जून से लेकर 15 अक्टूबर तक बालू के खनन पर एनजीटी (National Green Tribunal) हर साल रोक लगा देता है. वजह बारिश और नदी में पानी का स्तर बढ़ जाना होता है. इस बीच कंस्ट्रक्शन से जुड़ा जो भी काम होता है, वो सरकार की तरफ से खनन विभाग जेएसएमडीसी के जरिए स्टॉक किए गये बालू से होता है.

लेकिन हर साल इन चार महीनों में बालू की किल्लत देखी जाती है. झारखंड के करीब-करीब हर क्षेत्र में बालू की किल्लत है. लेकिन जेएसएमडीसी के जो आंकड़े बता रहे हैं, वो बाजार से अलग हैं. जेएसएमडीसी के आंकड़े बता रहे हैं कि उनके स्टॉक में पर्याप्त मात्रा में बालू उपलब्ध है.

advt

इसे भी पढ़ें- कोझिकोड हादसे के बाद रांची में दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा एयर एशिया का विमान, ब्लेड से टकराया पक्षी

10 जून को स्टॉक में था करीब 60 लाख CFT बालू

जेएसएमडीसी के अधिकारियों से आंकड़े जुटाने पर पता चला कि जब बालू खनन पर एनजीटी का रोक लगा, यानी 10 जून को उस वक्त जेएसएमडीसी के अपने स्टॉक में करीब 60 लाख सीएफटी बालू था. सात अगस्त को यह आंकड़ा घटकर करीब 46 लाख सीएफटी हो गया. यानी जून, जुलाई और अगस्त के पहले हफ्ते तक में स्टॉक से सिर्फ 14 लाख सीएफटी बालू खर्च हुआ. जिसका मतलब यह हुआ कि हर महीने सिर्फ 7 लाख सीएफटी बालू खर्च हुए. फिर भी बाजार में किल्लत है और लोगों को बालू काफी महंगे दर में मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें- LIC ने फिर एक लगभग डूब चुकी यस बैंक का 105.98 करोड़ शेयर खरीदा

स्टॉक में बालू नहीं होने की बात कही जाती हैः बालू कारोबारी

रांची जिले में बालू का व्यापार करने वाले लोगों का कहना है कि जून के बाद से ही बालू का रेट बढ़ने लगा. अभी स्थिति यह है कि हमें बालू मिल ही नहीं रहा है. बालू कारोबारी गुड्डू का कहना है कि हमें बालू काफी महंगे कीमत पर मिल रहा है. इसकी वजह बालू की कमी बतायी जा रही है. उनका कहना था कि जेएसएमडीसी जो आंकड़ा बता रहा है, वो पता नहीं कैसे बता रहा है. अगर इतना बालू उनके पास स्टॉक है, तो फिर कमी कहां से हो रही है, ये समझ के परे है.

adv

इस मामले पर खनन विभाग के सचिव के श्रीनिवासन से बात करने की कोशिश की गयी. लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया.

इसे भी पढ़ें- भाजपा नेता के विवादित बयान:  जो मंदिर के बजाय अस्पताल की बात कर  रहे हैं, वे लोगों को बरगला रहे हैं

advt
Advertisement

15 Comments

  1. Hi! Quick question that’s totally off topic. Do you
    know how to make your site mobile friendly? My web site looks weird when viewing from my iphone.

    I’m trying to find a template or plugin that might be able to correct this problem.
    If you have any suggestions, please share. Thank you!

  2. Simply desire to say your article is as astonishing.
    The clearness on your submit is just cool and i could think you’re a professional
    in this subject. Fine with your permission let me to snatch your RSS feed to keep updated with drawing close post.
    Thank you one million and please continue the rewarding work.

  3. What’s up, all the time i used to check website posts here in the early
    hours in the daylight, for the reason that i love to find out more and more.

  4. Amazing things here. I am very happy to see your article.
    Thanks a lot and I’m having a look forward to touch you.
    Will you please drop me a e-mail?

  5. Thanks for your marvelous posting! I certainly enjoyed reading it, you
    are a great author.I will be sure to bookmark your blog and will often come
    back very soon. I want to encourage that you continue your great
    posts, have a nice weekend! cheap flights y2yxvvfw

  6. Its not my first time to pay a quick visit this site, i
    am browsing this website dailly and take fastidious facts from here all the time.

    cheap flights 31muvXS

  7. It is appropriate time to make some plans for the
    future and it is time to be happy. I have read this post and if I could I wish
    to suggest you some interesting things or advice.
    Maybe you can write next articles referring to this article.
    I wish to read more things about it! cheap flights 3aN8IMa

  8. Hi there just wanted to give you a quick heads up.
    The text in your post seem to be running off the screen in Opera.
    I’m not sure if this is a formatting issue or something to do with browser
    compatibility but I thought I’d post to let you know. The style and design look great though!

    Hope you get the problem resolved soon. Cheers adreamoftrains
    web hosting company

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button