HEALTHJharkhandRanchi

इंटेंसिव केयर यूनिट ट्रेनिंग प्रोग्राम हुआ संपन्न, प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मियों को दिया गया प्रमाण पत्र

Ranchi : समाहरणालय स्थित एनआईसी सभागार में आज इंटेंसिव केयर यूनिट ट्रेनिंग प्रोग्राम के पूरा होने पर प्रमाण पत्र वितरण समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान माननीय स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, विकास आयुक्त सह अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण अरुण कुमार सिंह, मिशन डायरेक्टर एनएचएम, ओएसडी होम आइसोलेशन वर्चुअली जुड़े थे. एनआईसी सभागार में उपायुक्त रांची छवि रंजन, उप विकास आयुक्त रांची विशाल सागर, नोडल पदाधिकारी सदर अस्पताल गरिमा सिंह, सिविल सर्जन रांची और ट्रेंनिंग पा चुके डॉक्टर नर्स और स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे.

 

4 जिले के डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को दी गई ट्रेनिंग

 

स्वास्थ्य विभाग की पहल पर रांची जिला प्रशासन द्वारा सदर अस्पताल रांची में 4 जिलों के डॉक्टर नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को इंटेंसिव केयर यूनिट ट्रेनिंग दी गयी. गुमला, लोहरदगा, लातेहार और खूंटी के डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को 8 दिनों की ट्रेनिंग दी गयी. सदर अस्पताल के डॉ पंकज सिन्हा के नेतृत्व में यह ट्रेनिंग संपन्न हुई, जिसमें सभी को वेंटीलेटर मैनेजमेंट, ऑक्सीजन थेरेपी, इमरजेंसी प्रोसीजर, इनक्यूबेशन आदि की ट्रेनिंग दी गयी.

 

प्रशिक्षित डॉक्टर नर्स ने साझा किए अनुभव

 

प्रशिक्षण पा चुके डॉक्टर और नर्स ने कार्यक्रम के दौरान अपने अनुभव भी साझा किए. उन्होंने बताया कि किस तरह से 8 दिनों तक उन्हें इंटेंसिव केयर यूनिट, वहां उपयोग में लाए जाने वाले उपकरणों एवं स्थिति के अनुरूप कार्य करने की ट्रेंनिंग दी गयी. कार्यक्रम के दौरान वर्चुअली जुड़े माननीय स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि आप सभी ने इस ट्रेनिंग का सफल समापन कर मिसाल पेश की है, जो वैश्विक संकट के दौर में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि हम अपने ही लोगों से अपनी व्यवस्था को मजबूत कर रहे हैं.

चार जिलों की फिर होगी ट्रेनिंग

 

कार्यक्रम के दौरान विकास आयुक्त सह अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण अरुण कुमार सिंह ने कहा कि 21 मई से 4 जिलों के डॉक्टर नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों की भी ट्रेनिंग की जाएगी. इनमें साहिबगंज पाकुड़, गोड्डा, जामताड़ा से डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों की टीम को बुलाया जाएगा. इस दौरान इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि वहां चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित ना हो. उन्होंने कहा की उम्मीद है कि प्रशिक्षण का लाभ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को होगा.

 

उपायुक्त छवि रंजन ने दिया प्रमाण पत्र

 

उपायुक्त रांची छवि रंजन ने ट्रेनिंग पूरी कर चुके डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को प्रमाण पत्र वितरित किया. सभी को बधाई देते हुए उन्होंने कहा पड़ोसी जिले के डॉक्टर नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों का उत्साहवर्धन हुआ है. आने वाले समय में ये भी अपने जिले के डॉक्टर नर्स को  जानकारी दे पाएंगे जिससे मरीजों के इलाज में सहूलियत होगी.

इसे भी पढ़ें : BREAKING NEWS : हटिया-राउरकेला पैसेंजर ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त, बोगी से अलग होकर नदी में गिरा इंजन

इन्हें दी गई ट्रेनिंग :

 

गुमला

 

  1. डॉ. मनोज सुरीन (एलएसएएस)

 

  1. डॉ. प्रियरंजन पेम

 

  1. अंजन कुमार बारला (स्टाफ नर्स)

 

  1. पिंकू कुमार (ओटी असिस्टेंट)

 

*लोहरदगा

 

  1. डॉ. आर.पी. साहू (एलएसएएस)

 

  1. गणेश मलिक

 

  1. कृष्णा उरांव (डेन्टल ओटी असिस्टेंट)

 

  1. इस्थग रानी खाखा (नर्स स्टाफ)

 

  1. ज्योति तिर्की (नर्स स्टाफ)

 

*लातेहार

 

  1. डॉ. अशोक कुमार ओरया (एलएसएएस)

 

  1. डॉ. सरवन कुमार महतो

 

  1. डॉ. आशीष कुमार (आयुष एम.ओ.)

 

  1. अनुदीपा कुजूर (जीएनएम)

 

  1. दीपक कुमार (ओटी असिस्टेंट)

 

  1. अंतोषी खलखो (सीएचओ)

 

  1. सुनील कुमार शर्मा (एमपीडब्ल्यु)

 

*खूंटी

 

  1. डॉ. जे.जे. मुण्डू

 

  1. डॉ. सुदीप कुमार कच्छप

 

  1. डॉ. इरोन होरो

 

  1. उषा वर्मा (सीएचओ)

 

  1. ए.अलमी तिर्की (सीएचओ)

 

  1. इरा मून तिग्गा (सीएचओ)

Related Articles

Back to top button