न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत ने वेस्टइंडीज को आठ विकेट से हराया

117

Guwahati :  विराट कोहली और रोहित शर्मा के शतकीय प्रहारों के दम पर भारत ने रविवार को पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में वेस्टइंडीज को आठ विकेट से हरा दिया. जीत के लिये 323 रन के लक्ष्य के जवाब में भारत ने 42.1 ओवर में दो विकेट पर 326 रन बनाये. रोहित ने छक्के के साथ भारत को जीत तक पहुंचाया. वह 152 रन बनाकर नाबाद रहे.  मेहमान विंडीज को गुवाहाटी में पहले डे-नाइट वनडे मैच में आठ विकेट से मात देकर पांच वनडे मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. भारत से पहले बैटिंग का न्योता पाकर विंडीज ने कोटे के 20 ओवरों में 8 विकेट पर 322 रन बनाए. उसकी तरफ से 21 साल के हेटमायर ने 106, तो कीरेन पॉवेल ने 51 रन बनाए. युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए. जवाब में भारत ने कप्तान विराट कोहली के 36वें और रोहित शर्मा के नाबाद 20वें शतक की बदौलत भारत ने 42.1 ओवर में ही सिर्फ 2 विकेट खोकर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया.

शिखर धवन (4) के तेवर तो जल्द ही खत्म हो गए, लेकिन ब्रेक के बाद लौटे कोहली की विराट क्लास के लंबे समय बाद दर्शन हुए और उन्होंने पावर-प्ले में अपने स्ट्रोकों से मोह लिया. थॉमस की कुछ उठती हुई गेंदों पर विराट ने देखा-परखा और बाद से नियमित अंतराल उनके बल्ले से स्पर्शीय बाउंड्रियां नियमित अंतराल पर निकलती रहीं. कभी मिडविकेट के बीच से, तो कभी  स्कवॉयर लेग से. और 10ओवर खत्म होने के बाद कोहली सिर्फ 33 गेंदों पर 47 रन बनाकर नाबाद थे. नौ चौकों के साथ. रोहित थे सिर्फ 18 पर और पावर-प्ले के बाद टीम इंडिया का स्कोर था 1 विकेट पर 71 रन.

भारत की पूरी पारी वास्तव में इन दोनों बल्लेबाजों के इर्द-गिर्द सिमट कर रह गई. अर्धशतक पूरा करने के बाद विराट कोहली पहले जैसे ही अंदाज में सुर लगाते रहे, तो अर्धशतक पूरा करने के बाद रोहित शर्मा ने एकदम से ही तीसरे गीयर में बल्लेबाजी करना शुरू कर दिया. या कहें इस दौरान विंडीज गेंदबाजों की मनोदशा ही मैच से उखड़ गई.

विंडीज की शुरुआत खराब रही. बहुत ही उम्मीदों के साथ विंडीज ओपनर चंद्रपाल हेमराज अपने वनडे करियर का आगाज करने उतरे थे. शमी के फेंके तीसरे ओवर में दो लगातार चौके जड़कर संकते दिए कि वह बिल्कुल भी दबाव में नहीं है.लेकिन पांचवें ओवर में ही शमी ने उनके तेवरों पर ब्रेक लगाते हुए चंद्रपाल के करियर के आगाज को खराब करते हुए विंडीज की शुरुआत को भी बिगाड़ दिया.

चंद्रपाल हेमराज  भले ही जल्द ही पवेलियन लौट गए, लेकिन इससे दूसरे सलामी बल्लेबाज कीरेन पॉवेल पर कोई असर नहीं पड़ा और उन्होंने भयमुक्त होकर स्ट्रोक खेले. चंद्रपाल के आउट होने के बाद ही शमी के फेंके पारी के सातवें ओवर में पॉवेल ने पहले चौका और आखिरी गेंद पर गगनचुंबी छक्का जड़कर अपना आक्रामक अंदाज जारी रखा. और जब लेफ्टी खलील अहमद अपना पहला और पारी का नौवां ओवर लेकर आए, तो भी पॉवेल ने दो चौके जड़कर उनका स्वागत किया. यह पॉवेल के अटैकिंग गेम का ही असर था कि पहले पावर-प्ले मतलब दस ओवर के बाद विंडीज का स्कोर 1 विकेट पर 59 रन था. इस समय पॉवेल 25 गेंदों पर 34 रन बनाकर नाबाद थे.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: