JharkhandRanchi

कोरोना काल में बढ़ीं लूट की घटनाएं, आये दिन अपराधी दे रहे पुलिस को चुनौती

Ranchi : कोरोना काल में आर्थिक अपराध में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. पिछले तीन महीने के दौरान अपराधियों के द्वारा एक के बाद एक लूट की घटना को अंजाम दिया गया है. लॉकडाउन में छूट मिलते ही झारखंड में आर्थिक अपराध बढ़ गये हैं. लॉकडाउन में छूट मिलते ही चोरी, गुंडागर्दी, लूट और मारपीट जैसी घटनाओं में इजाफा हुआ है. अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती.

Advt

पिछले तीन महीनों में झारखंड में लूट की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. इस दौरान अपराधियों ने करोड़ों रुपये लूट लिये. हालांकि लूट की कुछ घटनाओं का पुलिस ने खुलासा भी किया, लेकिन लूटे गये रुपयों की बरामदगी पूरी तरह से नहीं हो पायी है.

इसे भी पढ़ें – Covid Effect: 2020 में भारत की GDP में 5.9 प्रतिशत की कमी का संयुक्त राष्ट्र का अनुमान

 

 अपराधियों के निशाने पर कारोबारी

हाल के महीनों में अगर देखें तो झारखंड में अपराधियों के निशाने पर मुख्य रूप से कारोबारी रहे हैं. इन कारोबारियों को अपराधी अपना निशाना बना रहे हैं. हाल के महीनों में अपराधियों के द्वारा धनबाद, दुमका, रामगढ़, पलामू, सहित कई अन्य शहरों में लूट की घटना को अंजाम दिया गया है.

हाल के दिनों में देखा जाये तो पूरे झारखंड में अपराधियों ने बेखौफ होकर लूट की घटना को अंजाम दिया. जिस सरलता से लूट की घटना को अंजाम देकर अपराधी मौके से फरार हो गये, इससे साफ जाहिर होता है कि अपराधियों के द्वारा घटना को अंजाम देने से पहले रेकी की जाती है. इसके बाद घटना को अंजाम दिया जाता है.

लॉकडाउन में छूट मिलते ही बढ़ी लूट की घटनाएं

लॉकडाउन में छूट मिलते ही लूट सहित कई आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. लॉकडाउन के दौरान इसका पालन करवाने के लिए राज्य में बड़े पैमाने पर पुलिस बल की तैनाती की गयी थी. जगह-जगह चेक नाका लगाकर वाहनों की जांच भी की जाती थी. लेकिन लॉकडाउन में छूट मिलते ही अपराधी इसका फायदा उठा रहे हैं और घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. वो बैंक या एटीएम ही नहीं आम जनता को भी निशाना बना रहे हैं और उनसे मोटी रकम लूट रहे हैं.

हाल के महीनों में हुई लूट की घटनाएं

21 सितंबर: रामगढ़ के बरकाकाना पतरातू मुख्य मार्ग पर स्थित दानिश पेट्रोल पंप के कर्मचारियों के साथ मारपीट करते हुए दिनदहाड़े 5 लाख 98 हजार रुपया लूट लिया गया.

 

20 सितंबर: दुमका के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में शनिवार शाम पश्चिम बंगाल के एक धान व्यवसायी से चार नकाबपोश अपराधियों ने लगभग 23 लाख रुपये लूट लिए थे.

 

19 सितंबर: पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के बीच बाजार स्थित जेवर दुकान में दिन दहाड़े 10 लाख से अधिक रुपये की लूट हुई. नकाबपोश पांच अपराधियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था.

 

14 सितंबर: धनबाद के धनसार थाना क्षेत्र के डुमरियाटाड़ में दिनदहाड़े मछली व्यवसायी विपिन कुमार सिन्हा से तीन अपराधियों ने पिस्टल भिड़ाकर दो लाख 25 हजार रुपये लूट लिये.

 

7 जुलाई: रांची के खलारी में बाइक सवार दो अपराधियों ने फाइनेंस कंपनी के कर्मी से 4.5 लाख लूटे.

 

7 जुलाई: रांची के सिल्ली थाने में पोस्टेड एएसआइ सुरेश ठाकुर से अपराधियों ने रिम्स परिसर में दो लाख रुपया लूट कर फरार हो गये.

 

5 जुलाई: बोकारो के पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र के बूढ़ाबांध जंगल में अपराधियों ने खटाल संचालक प्रफुल्ल कुमार पर हमला कर 70 हजार रुपए लूट लिये.

 

6 जुलाई : धनबाद के तोपचांची जीटी रोड पर प्राइवेट कंपनी के एक कलेक्शन कर्मचारी को गोली मारकर दो लुटेरों ने साढ़े 17 लाख रुपये लूट लिये.

 

4 जुलाई: रामगढ़ में सीसीएल कर्मी की पत्नी सीमा शर्मा से बाइक सवार अपराधियों ने 1.58 लाख रुपये की छिनतई कर ली. यह घटना रामगढ़ थाना क्षेत्र के थाना चौक के पास हुई.

 

27 जून: दुमका में आंध्रप्रदेश जा रहे मछली व्यवसायी से दिन दहाड़े अपराधियों ने 20 लाख रुपये लूट लिये.

इसे भी पढ़ें –राज्यसभा के उपसभापति ने अपना उपवास खत्म किया, विपक्षी सांसदों के हंगामें से हुए थे आहत

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button