JharkhandJYOTSHI-DHARAMARanchi

इस सावन रांची में पहाड़ी बाबा के ऑनलाइन ही होंगे दर्शन, मंदिर में धार्मिक आयोजन का नहीं मिलेगी परमिशन

विज्ञापन
Advertisement

Ranchi: इस बार रांची के पहाड़ी बाबा परिसर में सावन का रंग दूसरा होगा. जिला प्रशासन ने कोरोना के खतरे को देखते हुए पहाड़ी मंदिर में धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं दी है. सावन में भगवान शंकर की पूजा-अर्चना ऑनलाइन ही होगी. यानि भक्त इस बार मंदिर परिसर में आकर पूजा-पाठ या दर्शन नहीं कर सकेंगे.

रांची जिला प्रशासन ने ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था बना ली है. इसके लिये दो लिंक्स जारी किये गये हैं. रांची एसडीओ और पहाड़ी मंदिर समिति के प्रतिनिधियों के बीच शनिवार को हुई महत्वपूर्ण बैठक में इस पर अंतिम रुप से सहमति बना ली गयी.

किस लिंक से मिलेगा लाभ

राज्य में अब भी लॉकडाउन जारी है. इसे देखते हुए रांची एसडीओ लोकेश मिश्रा और पहाड़ी मंदिर समिति के प्रतिनिधियों के बीच शनिवार को बैठक हुई. इसमें भक्तों की सुविधा और उनकी सुरक्षा के लिए ऑनलाइन दर्शन की योजना को तय किया गया. भक्तों के लिये दो लिंक जारी किये गये हैं-  https://www.facebook.com/ranchipahari.mandir.5 और https://paharimandirranchi.com/index.php. जिला प्रशासन इनके जरिये पूरे सावन में पहाड़ी बाबा की सुबह और शाम की आरती का ऑनलाइन प्रसारण करेगा.

advt

इसे भी पढ़ें – लोहरदगा में एक व्यक्ति की सिर काट कर हत्या, कुएं से बरामद हुआ शव

नहीं होगा धार्मिक आयोजन

कोरोना से बचाव की खातिर कई जरूरी फैसले भी लिये गये हैं. पहाड़ी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए इस सावन बंद रहेगा. सावन महीने में पहाड़ी मंदिर में किसी भी प्रकार का धार्मिक आयोजन करने का परमिशन नहीं मिलेगा.

मंदिर के पुजारी के अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति को मंदिर में घुसने की इजाजत नहीं होगी. पुजारी ही भगवान शंकर की पूरे विधि-विधान से पूजा अर्चना का कार्य करेंगे. पहले की ही तरह श्रृंगारी पूजा भी पुजारी के ही माध्यम से किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – ढह गई विकास दुबे की ‘लंका’, सबकुछ जमींदोज, देखें Photos

बाबाधाम में भी ऑनलाइन पूजा

इस बार कोरोना आपदा को देखते हुए देवघर के बाबाधाम में ऑनलाइन पूजा-पाठ का ही प्रावधान किया गया है. दुमका और देवघर में कांवर यात्रा और सावन मेले के आयोजन की अनुमति झारखंड हाईकोर्ट ने नहीं दी है.

कोर्ट ने लोगों की धार्मिक आस्था को देखते हुए इन मंदिरों में होनेवाली पूजा का भक्तों को ऑनलाइन दर्शन कराने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है.

इसे भी पढ़ें – Sawan 2020: 4 अगस्त तक शिवालयों में जलाभिषेक नहीं, कांवर यात्रा पर भी पाबंदी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: