Sports

आइसीसी ने क्रिकेट के दो नियमों में किये बड़े बदलाव, कप्तानों को सस्पेंशन से राहत

London: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कप्तानों को अब धीमी ओवर गति के लिये निलंबन नहीं झेलना पड़ेगा. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने क्रिकेट में कुछ नए नियमों को लागू करने के लिए मंजूरी दी है.

और आने वाले वक्त में क्रिकेट अपने बदले हुए अंदाज के साथ नजर आयेगा.

इसे भी पढ़ेंःधोनी पर बोले गंभीरः प्रैक्टिकल होकर फैसला लेने की जरूरत, उनकी तरह भविष्य को देखना जरुरी

advt

कप्तान को बड़ी राहत

मैच के दौरान धीमी गति से ओवर फेंकने पर अब सिर्फ टीम के कप्तान को नहीं बल्कि पूरी टीम को इसकी सजा मिलेगी. आइसीसी ने ऐसे किसी अपराध की दशा में पूरी टीम के अंक काटने और सजा देने का फैसला किया है जिसकी शुरूआत आगामी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप से हो जायेगी.

आइसीसी क्रिकेट समिति के सुझावों को उसके बोर्ड ने मंजूरी दे दी. विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप 2019 से 2021 तक चलेगी जिसका आगाज एक अगस्त से शुरू हो रही एशेज श्रृंखला से होगा.

आइसीसी ने एक बयान में कहा,‘‘ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप मैचों में अगर कोई टीम निर्धारित समय में ओवर पूरे नहीं कर पाती तो हर ओवर की एवज में उसके दो प्रतिस्पर्धा अंक काटे जायेंगे.’’

इसमें कहा गया,‘‘ कप्तानों को अब इसके लिये निलंबन नहीं झेलना होगा. सभी खिलाड़ी इसके लिये समान रूप से कसूरवार होंगे और समान सजा भुगतेंगे.’’  अब तक एक साल में दो बार धीमी ओवरगति का अपराध होने पर कप्तान को निलंबित कर दिया जाता था.

adv

इसे भी पढ़ेंःबाबरी मस्जिद विध्वंस: SC ने विशेष न्यायाधीश को नौ महीने में फैसला सुनाने का दिया निर्देश

चोटिल खिलाड़ी की जगह दूसरा खिलाड़ी

आइसीसी ने एक और अहम बदलाव किया है. अब मैच के दौरान गेंद से चोटिल खिलाड़ी की जगह दूसरा खिलाड़ी ले सकता है. लेकिन जैसा खिलाड़ी चोटिल होगा उसका सब्सटीट्यूट भी वैसा ही होना चाहिए.

यानी गेंदबाज की जगह गेंदबाज और बल्लेबाज की जगह बल्लेबाज. और इस तरह के बदलाव के लिए मैच रैफरी की मंजूरी लेनी जरूरी होगी. यह बदलाव एक अगस्त से लागू होगा और एजबेस्टन में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज से इस बदलाव की शुरुआत होगी.

इसे भी पढ़ेंःकेंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से NRC की डेडलाइन 31 जुलाई तक बढ़ाने की अपील की

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button