न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गोल्फ खिलाड़ी ज्योति रंधावा अवैध शिकार के आरोप में गिरफ्तार, राइफल, सांभर खाल व जंगली मुर्गा बरामद

1,304

Baharaich (UP): गोल्फर ज्योति रंधावा और उनके एक साथी को मोतीपुर रेंज के जंगल में शिकार के आरोप में बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया. फिल्म अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह के पूर्व पति और अन्तर्राष्ट्रीय गोल्फर एवं राष्ट्रीय शूटर ज्योती सिंह रंधावा व उनके एक साथी को गिरफ्तार किया गया है. दुधवा कतर्नियाघाट टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर रमेश पांडेय ने बताया कि कतर्नियाघाट सेंचुरी से मिली प्राथमिक जानकारी के मुताबिक रंधावा और उनके साथियों पर जंगली मुर्गे का शिकार करने का आरोप है. उनके पास से जंगली जानवर की खाल, असलहा, गाड़ी व अन्य सामान बरामद हुआ है

वन विभाग के अधिकारियों ने उनके कब्जे से सांभर की खाल, 0 . 22 बोर की राइफल, लग्जरी गाड़ी :रजिस्ट्रेशन नंबर(एचआर 26 डीएन 4299) तथा शिकार करने से संबंधित प्रतिबंधित उपकरण बरामद किए हैं. कतर्नियाघाट वन्य जीव विहार के डीएफओ जी पी सिंह आरोपी गोल्फर व उनके साथी से पूछताछ कर कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं. दुधवा टाइगर रिजर्व (Dudhwa Tiger Reserve) के फील्ड डायरेक्टर रमेश पांडेय के निर्देशन पर पूछताछ हो रही है.

स्थानीय प्रशासन के अनुसार, ज्योति रंधावा अपने एक साथी महेश के साथ बहराइच के जंगल में मौजूद था. वहीं वन विभाग की टीम ने संदिग्ध गतिविधि देखते हुए उनकी गाड़ी रोकी तो पूरे मामले का खुलासा हुआ. जांच पड़ताल में ज्योति रंधावा की गाड़ी से एक राइफल बरामद हुई. इसके साथ ही सांभर जानवर की खाल और एक जंगली मुर्गा बरामद हुआ.

कौन है ज्योति रंधावा

ज्योति रंधावा एक जानेमाने गोल्फ खिलाड़ी हैं, जो 1994 से प्रोफेशनल तौर पर गोल्फ खेल रहे हैं. रंधावा ने एशियन टूर से लेकर यूरोपियन टूर में हिस्सा लिया है. हाल ही में रंधावा को महाराष्ट्र के यवतमाल में आदमखोर बाघिन को तलाशने वाली टीम में शामिल किया गया था. बाघिन को खोजने के लिए बनी विशेष डॉग टीम का नेतृत्व ज्योति रंधावा ने ही किया था. निजी जिंदगी की बात करें तो 46 साल के ज्योति रंधावा ने बॉलीवुड अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह से शादी की थी, लेकिन ये शादी चली नहीं और 2014 में दोनों का तलाक हो गया था. दोनों का एक बेटा भी है, जिसकी कस्टडी चित्रांगदा को मिली है.

जानें चार सालों में रघुवर सरकार ने विज्ञापन पर कितना किया खर्च

जानें गृह सचिव ने डीजीपी से क्या कहा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: