BiharMain SliderNational

चुनाव से पहले बिहार में सौगात की बहारः आज पीएम मोदी करेंगे कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन

2003 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी आधारशिला

विज्ञापन

NewDelhi/Patna: बिहार में इस साल अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव से पहले केंद्र सरकार ने बिहार में सौगात की बहार लगा दी है. इसी कड़ी में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु के साथ यात्री सुविधाओं से संबंधित रेल की 12 परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे.

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी एक बयान में कहा गया कि वीडियो कॉन्फ्रेंस से होने वाले कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन बिहार के इतिहास में एक ऐतिहासिक क्षण होगा क्योंकि यह इस क्षेत्र को पूर्वोत्तर भारत के राज्यों से जोड़ेगा.

इसे भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने दिया इस्तीफा, नरेंद्र सिंह तोमर को मिला अतिरिक्त प्रभार

advt

516 करोड़ की लगात से बना 1.9 किमी लंबा ब्रिज

बता दें कि साल 1887 में कोसी क्षेत्र में निर्मली और भापतियाही के बीच मीटर गेज लिंक का निर्माण हुआ था. लेकिन 1934 में भारी बाढ़ और नेपाल में आए भूकंप में यह तबाह हो गया था. इसके बाद कोसी नदी की अभिशापी प्रकृति के चलते इस रेल मार्ग के पुनर्निर्माण का काम शुरू करने को कोई प्रयास नहीं किया गया. बाद में 6 जून 2003 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने निर्मली के एक कॉलेज में आयोजित समारोह में कोसी मेगा ब्रिज लाइन परियोजना की नींव रखी थी. अब उनका यह सपना साकार होने जा रहा है. इस सेतु की लम्बाई 1.9 किलोमीटर है और इसके निर्माण पर 516 करोड़ रुपये की लागत आई है.

पीएमओ ने कहा कि कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन क्षेत्र के लोगों की लंबी प्रतीक्षा का अंत करेगा और 86 साल पुराने उनके सपने को पूरा करेगा. बयान में कहा गया, ‘भारत-नेपाल सीमा के निकट स्थित सेतु का रणनीतिक महत्व है. इसका निर्माण कार्य कोरोना संक्रमण काल के दौरान पूरा हुआ है और इसमें प्रवासी मजदूरों ने भी अपना योगदान दिया है.’

12 रेल परियोजनाओं का भी उद्घाटन

इसके अलावा मोदी जिन 12 रेल परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे उनमें किउल नदी पर एक रेल सेतु, दो नई रेल लाइनें, पांच विद्युतीकरण से संबंधित, एक इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव शेड और बाढ़ और बख्तियारपुर में तीसरी लाइन परियोजना भी शामिल है.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमितों की संख्या 51 लाख के पार, वायरस के कारण देश में 83 हजार 198 लोगों की मौत

adv

प्रधानमंत्री इस अवसर पर सहरसा-असनपुर कुपहा रेल सेवा को सुपौल स्टेशन से हरी झंडी दिखाएंगे. इस रेल सेवा की शुरुआत से सुपौल, अररिया और सहरसा जिले के लोगों को बहुत सुविधाएं मिलेंगी. कोलकाता, दिल्ली और मुंबई जैसी लंबी दूरी में भी सहूलियत होगी. मोदी मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी, कटिहार-न्यू जलपाईगुड़ी, समस्तीपुर-दरभंगा-जयनगर, समस्तीपुर-खगड़िया और भागलपुर-शिवनारायणपुर रेलखंडों के विद्युतीकरण परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे.

चुनाव से पहले सौगातों की झड़ी

पिछले कुछ दिनों में प्रधानमंत्री ने बिहार में दर्जन भर से अधिक परियोजनाओं की सौगात दी है. बिहार में अक्टूबर-नवम्बर में विधानसभा के चुनाव होने हैं. निर्वाचन आयोग कभी भी राज्य में चुनाव की घोषणा कर सकता है. सूत्रों के मुताबिक, अभी तक मोदी ने जिन परियोजनाओं का उद्घाटन या शिलानयास किया है उनकी लागत लगभग 16,000 करोड़ रुपये होगी.

इसे भी पढ़ेंः ACB की पीई जांच में सीएम के पूर्व ओएसडी गोपालजी तिवारी पाए गए दोषी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button