JharkhandRanchi

राष्ट्रीय मत्स्य कृषक दिवस पर किसानों को तोहफा, 6 करोड़ 40 लाख रुपये की परिसंपतियों का वितरण

Ranchi: राष्ट्रीय मत्स्य कृषक दिवस के अवसर पर राज्य के किसानों के बीच 6 करोड़ 40 लाख परिसंपतियों का वितरण किया गया. इससे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एंव कृषि मंत्री बादल पत्रलेख वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये जिले के मत्स्य कृषकों से संवाद कर उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों से अवगत हुए. देवघर परिसदन में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री ने की.

इस दौरान जिले के विभिन्न प्रखण्डों से आये हुए मत्स्य मित्रों, मत्स्य पालकों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में मछलियों के प्रेरित प्रजनन के फलस्वरूप आज स्पॉन की उपलब्धता सुनिश्चित हो पायी है तथा नीली क्रांति में एक महत्वपूर्ण कदम भी इसे माना जाता है.

उपायुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री की प्राथमिकता अनुरूप जिले में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने का हर प्रयास किया जा रहा है, ताकि आप सबों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जा सके.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें :NUSRL से करें कानून की पढ़ाई, 26 जुलाई तक है एडमिशन का मौका

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

सघन मत्स्य पालन किया जा रहा

जिले के कुमैठा में रिसर्कुलेटरी एक्वाकल्चर सिस्टम के द्वारा सघन मत्स्य पालन किया जा रहा है. सरकार व जिला प्रशासन मत्स्य कृषकों के उत्थान के लिए सतत प्रयासरत है, ताकि उन्हें पूर्ण रूप से स्वावलंबी व आत्मनिर्भर बनाया जा सके.

विभिन्न लाभुकों के बीच लगभग 14 लाख की परिसंपत्ति का वितरित

उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा प्रधानमंत्री मत्स्य संम्पदा योजना (PMMSY) के लाभुकों के बीच कुल 14 लाख की परिसम्पतियों का वितरण किया गया. इसके साथ ही प्रशिक्षित 30 लोगों को स्पॉन, फिश फीड तथा फ्राई कैंचिंग नेट, 10 केज लाभुकों को पंगेशियस बीज, 4 मत्स्य कृषकों को नाव तथा 7 मत्स्य विक्रेताओं को कटिंग टूल्स का वितरण किया गया. साथ ही 2 मत्स्य कृषकों को तीन चक्का वाहन आईस बॉक्स के साथ ई-रिक्शा तथा 6 लोगों को मोटर साईकिल, आईस बॉक्स के साथ अनुदान स्वरूप प्रदान किया गया. वहीं RAS के लाभुक को 50 हजार देशी मांगुर के बीज उपलब्ध कराये गये हैं.

इसे भी पढ़ें :RANCHI : रिम्स में 24 घंटे मरीजों की इको जांच की जायेगी

Related Articles

Back to top button