न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मशहूर फिल्मकार पद्म भूषण मृणाल सेन का 95 वर्ष की उम्र में कोलकाता में निधन

एक साल पूर्व मृणाल सेन की पत्नी की मौत हो गयी थी.  सेन दादा साहब फाल्के और पद्म भूषण जैसे सम्मान से नवाजे जा चुके हैं. मृणाल सेन को एक ऐसी शख्सियत के रूप में जाना जाता है जो फिल्मों के साथ एक्सपेरिमेंट करते रहते थे.  

942

Kolkata : देश के दिग्गज फिल्म निर्माताओं में शामिल मशहूर फिल्मकार मृणाल सेन का रविवार, 30 दिसंबर को सुबह लगभग 10:30 बजे 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने कोलकाता के भवानीपोर स्थित अपने घर में आखिरी सांस ली.  वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे.  वे उम्र संबंधी कई गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे. मृणाल सेन को दिल का दौरा पड़ा था. सेना की मृत्यु की खबर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं. सेन की देखभाल करने वाले केयर टेकर ने उनकी मृत्यु के बारे में जानकारी दी. केयरटेकर के अनुसार उनकी हालत जब ज्यादा खराब हो गयी, तब एक डॉक्टर को बुलाया गया.  मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका और डॉक्टर उन्हें मृत घोषित कर दिया, उन्हें हार्ट अटैक आया था. सेन की इच्छा के अनुसार उनके शव को कहीं भी नहीं रखा जायेगा. खबरों के अनुसार विदेश से उनके बेटे कुणाल के आने का इंतजार किया जायेगा.

mi banner add

कुणाल के लौटने के बाद ही कोई फैसला लिया जायेगा. यह जानकारी सेन के केयर टेकर ने ही पत्रकारों को दी.  बता दें कि एक साल पूर्व मृणाल सेन की पत्नी की मौत हो गयी थी.  सेन दादा साहब फाल्के और पद्म भूषण जैसे सम्मान से नवाजे जा चुके हैं. मृणाल सेन को एक ऐसी शख्सियत के रूप में जाना जाता है जो फिल्मों के साथ एक्सपेरिमेंट करते रहते थे.  उनकी फिल्मों में समाज के यथार्थ की छवि साफ नजर आती थी.

मृणाल सेन का जन्म 14 मई, 1923 को हुआ था

Related Posts

सेल गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस के साथ समझौता करने वाला देश का पहला पीएसयू बना

सेल ने 18 जुलाई, 2019 को भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के वाणिज्य विभाग की गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (जीइएम) के इस समझौते पर हस्ताक्षर किया है

फिल्मकार मृणाल सेन का जन्म 14 मई, 1923 को फरीदपुर (अब बांग्लादेश) में हुआ था. जानकारी के अनुसार हाई स्कूल की पढ़ाई खत्म कर सेन कोलकाता आ गये. उन्होंने स्कॉटिश चर्च कॉलेज में फिजिक्स की पढ़ाई की और बाद में कलकत्ता यूनिवर्सिटी से पोस्टग्रेजुएट किया. छात्र जीवन में ही मृणाल सेन कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की सांस्कृतिक इकाई से जुड़ गये.  हालांकि अपने जीवनकाल में वह कभी पार्टी के सदस्य नहीं बने.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: