Lead NewsNationalNEWS

मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार आज, जानिए शाम 6 बजे कौन-कौन लेंगे मंत्री पद की शपथ

Uday Chandra Singh

NEW DELHI : केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार आज शाम 6 बजे किया जाएगा, लेकिन मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले चेहरों को लेकर अभी सिर्फ कयास भर लगाए जा रहे हैं. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में कुछ चौंकाने वाले फैसले ले सकते है, अब तक मिल रहे संकेतों के अनुसार ये बड़ा मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल होगा. इसमें दलित और पिछड़ी जातियों के प्रतिनिधित्व मिलने की बात आ रही है. विस्तार के बाद कम से कम 25 ओबीसी मंत्री होंगे.

इसे भी पढ़ें : स्टेन स्वामी की मौत पर विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति को लिखी चिट्ठी, कार्रवाई की मांग

Sanjeevani

नए मंत्रिमंडल में 17 से 22 मंत्री शपथ लेंगे. इस दौरान कई मंत्रियों से अतिरिक्त प्रभार भी लिए जा सकते हैं. वहीं कई मंत्रियों को बाहर का रास्ता भी दिखाया जा सकता है. जिसका सिलसिला शुरू भी हो चुका है. खबर है कि मंत्रिमंडल विस्तार में युवा और पेशेवरों को अधिक प्राथमिकता मिलने वाली है.  इसके तहत मंत्रियों की सूची में कई टेक्नोक्रेट भी दिख सकते हैं. क्योंकि इस बात पर भी बहुत ध्यान दिया गया है कि नए मंत्रियों में उच्च शिक्षित लोग भी शामिल हों. और अपने अपने क्षेत्रों के विशेषज्ञ हों. वहीं युवा चेहरों को आगे लाया जाएगा उन लोगों को मौका मिलेगा, जिन्हें राज्यों में काम करने का प्रशासनिक अनुभव है.

 

इस बीच केंद्रीय मंत्रिमंडल में होने वाले बदलाव को देखते हुए दिल्ली में नेताओं का जमावड़ा लग चुका है. सभी नेताओं को कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट के साथ तैयार रहने को कहा गया है. शपथ ग्रहण में इस बार अधिक भीड़भाड़ नहीं होगी. शपथ लेने वाले मंत्रियों को अपने साथ सिर्फ एक व्यक्ति को लाने की इजाजत होगी.

 

 क्या है मोदी का फॉर्मूला और फोकस

 

पीएम नरेंद्र मोदी इस बार अपने मंत्रिमंडल विस्तार में इस बार इस विषय को ध्यान में रखकर चल रहे हैं कि सभी प्रमुख समुदायों और सभी क्षेत्रों का मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व हो. इसके साथ ही चुनाव वाले राज्यों पर भी उनका विशेष फोकस होगा. यूपी से पीएम मोदी को मिलाकर कुल 10 मंत्री हैं. यूपी चुनाव में तकरीबन 7 महीने रह गए हैं, ऐसे में माना जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार से चुनावी समीकरण सही करने का यह एक बड़ा मौका है और इसे भुनाने में मोदी पीछे नहीं रहेंगे. इसी तरह यूपी के साथ साथ बंगाल, महाराष्ट्र और गुजरात भी फोकस में हैं यूपी की तरह गुजरात में भी अगले साल चुनाव हैं. ऐसे में महाराष्ट्र में जहां खुद को मजबूत करना है तो दूसरी ओर पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी दीदी के लिए वे चुनौती बनाए रखना चाहेंगे. बंगाल से बीजेपी सांसद शांतनु ठाकुर के नाम की चर्चा है जो मतुआ समुदाय से आते हैं और जिनका क्षेत्र में अच्छी पकड़ है. वहीं बंगाल से दूसरा नाम निशीथ प्रमाणिक का है, जो राजवंशी समुदाय से हैं. और 2019 से पहले टीएमसी से बीजेपी में आए थे  इसी तरह से महाराष्ट्र में नारायण राणे  और मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम तय माना जा रहा है.  राणे कभी शिवसेना में थे. लेकिन अब शिवसेना के कट्टर विरोधी हैं. महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण का मुद्दा गरम है, तो मराठा नेता के तौर पर उन्हें टीम मोदी में जगह मिल सकती है. यूपी से कानपुर से सांसद सत्यदेव पचौरी, प्रयागराज से सांसद रीता बहुगुणा जोशी, बस्ती से सांसद हरीश द्विवेदी, खीरी से सांसद अजय मिश्रा का नाम चर्चा में है. अपने आक्रामक तेवरों के लिए जाने जाने जाने वाले वरुण गांधी को भी कैबिनेट में जगह दी जा सकती है असम के पूर्व सीएम सर्वानंद सोनोवाल भी पूरी तैयारी के साथ दिल्ली पहुंच गए हैं. मध्य प्रदेश से बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और जबलपुर के सांसद राकेश सिंह का नाम संभावित मंत्रियों की लिस्ट में तय माना जा रहा है.

 

बिहार से इन चेहरों को मिल सकती है जगह

बिहार से कैबिनेट विस्तार में जिन्हें जगह मिल सकती है. इनमें पहला नाम है- पशुपति पारस, कैबिनेट में इनको जगह मिलने से बिहार और उत्तर भारत में पासवान कम्युनिटी को लुभाया जा सकता है. पशुपति पारस के अलावा सुशील मोदी भी मंत्रिमंडल में जगह पाने की रेस में हैं. बताया जा रहा है कि इन्हें सम्मानजनक जगह देने के कैबिनेट में जगह दी जाएगी और बिहार बीजेपी में इनके लंबे अनुभव का फायदा लिया जाएगा. इसके अलावा इनको मंत्री बनाकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी खुश करने की कोशिश हो सकती है.वहीं जेडीयू कोटे से सबसे आगे नाम चल रहा है राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का. लेकिन माना जा रहा है कि नीतीश आरसीपी सिंह को लेकर कुछ और ही सोच रहे हैं. सूत्रों के अनुसार जेडीयू कोटे से इस बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में चार चेहरों को शामिल किया जा सकता है. इनमें सांसद और पार्टी के वरिष्ठ नेता ललन सिंह, पूर्णिया से सांसद संतोष कुशवाहा, रामनाथ ठाकुर और जहानाबाद से सांसद चंदेश्वर प्रसाद को मंत्रिपरिषद में जगह मिल सकती है.

Related Articles

Back to top button