न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

मंत्री के अल्टीमेटम के बाद भी नहीं सुधर रही एस्सेल इन्फ्रा, वेतन नहीं मिलने से नाराज सफाईकर्मी गये हड़ताल पर

मोरहाबादी व खेलगांव MTS से शानिवार को नहीं हुआ कचरे का उठाव

107

Ranchi : एस्सेल इन्फ्र. एक ऐसा नाम, जिसके खिलाफ न केवल नगर विकास मंत्री सीपी सिंह और शहर के सभी पार्षद, बल्कि कंपनी के कर्मचारी भी उससे नाराज रहते आये हैं. कुछ दिन पहले नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कंपनी को अल्टीमेटम दिया था, लेकिन लगता है अब कंपनी को मंत्री के निर्देश का भी डर नहीं. कंपनी के मोरहाबादी स्थित एमटीएस के कर्मचारी शनिवार को हड़ताल पर चले गये. इन कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें दुर्गा पूजा के समय में भी सही समय पर वेतन नहीं मिल रहा है. पिछले दो महीनों से उनका वेतन रुका हुआ है. इसके अलावा इन कर्मचारियों का न ही पीएफ कट रहा है और न ही उन्हें वेतन का सैलरी स्लिप मिलता है. इसी कारण उन्होंने यह हड़ताल की है. हालांकि, इन कर्मचारियों को कंपनी के अधिकारियों द्वारा आश्वासन मिलने के बाद वे काम पर लौट गये.

eidbanner

इसे भी पढ़ें- जल संसाधन विभाग में अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति के अभियंताओं को नहीं मिला प्रमोशन

हर माह 10 तारीख को वेतन भुगतान का किया था वादा

वेतन नहीं मिलने से नाराज होकर शनिवार को रांची एमएसडब्ल्यू कंपनी के मोरहाबादी और खेलगांव स्थित कचरा ट्रांसफर स्टेशन के 250 सफाई कर्मचारी और ड्राइवर हड़ताल पर चले गये. कर्मचारियों की हड़ताल पर जाने से कांके रोड, मोरहाबादी, एदलहातू, बरियातू रोड, बड़गांई, बूटी मोड़, चेशायर होम रोड, कोकर सहित खेलगांव के इलाके में कूड़े का उठाव ठप रहा. इन कर्मचारियों का कहना था कि पिछली बार भी जब वे हड़ताल पर गये थे, तो उन्हें यह कहा गया था कि हर हाल में माह की 10 तारीख को वेतन का भुगतान कर दिया जायेगा. लेकिन, 13 तारीख होने जाने पर भी उन्हें वेतन नहीं मिला. दुर्गा पूजा का त्योहार शुरू हो चुका है, फिर भी उन्हें पिछले दो महीनों से वेतन भुगतान नहीं किया गया है. हड़ताल को देखते हुए रांची एमएसडब्ल्यू के अधिकारी कर्मचारियों से वार्ता करने पहुंचे, लेकिन कर्मचारियों ने साफ कर दिया कि जब तक वेतन नहीं मिलेगा, तब तक कोई कर्मचारी काम नहीं करेगा. कर्मचारियों का कहना था कि नगर निगम ने हाल ही में कंपनी को पांच करोड़ रुपये की बकाया राशि का भुगतान भी किया है, लेकिन कंपनी ने इस पैसे से किसी कर्मचारी को वेतन नहीं दिया. अब कंपनी व नगर निगम के अधिकारी समझें कि कैसे शहर की सफाई होगी, हम तो अपनी हड़ताल जारी रखेंगे. इसके बाद कंपनी के अधिकारियों ने सफाई कर्मचारियों को वेतन भुगतान का आश्वासन दिया, तब जाकर कर्मचारी काम पर लौटे.

इसे भी पढ़ें- 266 पुलिसकर्मियों के भरोसे रांची का ट्रैफिक विभाग

झीरी में लगी रही कचरा उठानेवाले वाहनों की कतार

इधर, नगर निगम के झीरी स्थित डंपिंग यार्ड में भी शनिवार को नगर निगम के सारे कूड़ा वाहन खड़े रहे. यहां कंपनी का पोकलेन खराब हो गया था. इस कारण कूड़ा वाहनों से कूड़े को यहां पर उतारा नहीं जा सका.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: