न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मंत्री के अल्टीमेटम के बाद भी नहीं सुधर रही एस्सेल इन्फ्रा, वेतन नहीं मिलने से नाराज सफाईकर्मी गये हड़ताल पर

मोरहाबादी व खेलगांव MTS से शानिवार को नहीं हुआ कचरे का उठाव

83

Ranchi : एस्सेल इन्फ्र. एक ऐसा नाम, जिसके खिलाफ न केवल नगर विकास मंत्री सीपी सिंह और शहर के सभी पार्षद, बल्कि कंपनी के कर्मचारी भी उससे नाराज रहते आये हैं. कुछ दिन पहले नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कंपनी को अल्टीमेटम दिया था, लेकिन लगता है अब कंपनी को मंत्री के निर्देश का भी डर नहीं. कंपनी के मोरहाबादी स्थित एमटीएस के कर्मचारी शनिवार को हड़ताल पर चले गये. इन कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें दुर्गा पूजा के समय में भी सही समय पर वेतन नहीं मिल रहा है. पिछले दो महीनों से उनका वेतन रुका हुआ है. इसके अलावा इन कर्मचारियों का न ही पीएफ कट रहा है और न ही उन्हें वेतन का सैलरी स्लिप मिलता है. इसी कारण उन्होंने यह हड़ताल की है. हालांकि, इन कर्मचारियों को कंपनी के अधिकारियों द्वारा आश्वासन मिलने के बाद वे काम पर लौट गये.

इसे भी पढ़ें- जल संसाधन विभाग में अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति के अभियंताओं को नहीं मिला प्रमोशन

हर माह 10 तारीख को वेतन भुगतान का किया था वादा

वेतन नहीं मिलने से नाराज होकर शनिवार को रांची एमएसडब्ल्यू कंपनी के मोरहाबादी और खेलगांव स्थित कचरा ट्रांसफर स्टेशन के 250 सफाई कर्मचारी और ड्राइवर हड़ताल पर चले गये. कर्मचारियों की हड़ताल पर जाने से कांके रोड, मोरहाबादी, एदलहातू, बरियातू रोड, बड़गांई, बूटी मोड़, चेशायर होम रोड, कोकर सहित खेलगांव के इलाके में कूड़े का उठाव ठप रहा. इन कर्मचारियों का कहना था कि पिछली बार भी जब वे हड़ताल पर गये थे, तो उन्हें यह कहा गया था कि हर हाल में माह की 10 तारीख को वेतन का भुगतान कर दिया जायेगा. लेकिन, 13 तारीख होने जाने पर भी उन्हें वेतन नहीं मिला. दुर्गा पूजा का त्योहार शुरू हो चुका है, फिर भी उन्हें पिछले दो महीनों से वेतन भुगतान नहीं किया गया है. हड़ताल को देखते हुए रांची एमएसडब्ल्यू के अधिकारी कर्मचारियों से वार्ता करने पहुंचे, लेकिन कर्मचारियों ने साफ कर दिया कि जब तक वेतन नहीं मिलेगा, तब तक कोई कर्मचारी काम नहीं करेगा. कर्मचारियों का कहना था कि नगर निगम ने हाल ही में कंपनी को पांच करोड़ रुपये की बकाया राशि का भुगतान भी किया है, लेकिन कंपनी ने इस पैसे से किसी कर्मचारी को वेतन नहीं दिया. अब कंपनी व नगर निगम के अधिकारी समझें कि कैसे शहर की सफाई होगी, हम तो अपनी हड़ताल जारी रखेंगे. इसके बाद कंपनी के अधिकारियों ने सफाई कर्मचारियों को वेतन भुगतान का आश्वासन दिया, तब जाकर कर्मचारी काम पर लौटे.

इसे भी पढ़ें- 266 पुलिसकर्मियों के भरोसे रांची का ट्रैफिक विभाग

झीरी में लगी रही कचरा उठानेवाले वाहनों की कतार

इधर, नगर निगम के झीरी स्थित डंपिंग यार्ड में भी शनिवार को नगर निगम के सारे कूड़ा वाहन खड़े रहे. यहां कंपनी का पोकलेन खराब हो गया था. इस कारण कूड़ा वाहनों से कूड़े को यहां पर उतारा नहीं जा सका.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें
स्वंतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता का संकट लगातार गहराता जा रहा है. भारत के लोकतंत्र के लिए यह एक गंभीर और खतरनाक स्थिति है.इस हालात ने पत्रकारों और पाठकों के महत्व को लगातार कम किया है और कारपोरेट तथा सत्ता संस्थानों के हितों को ज्यादा मजबूत बना दिया है. मीडिया संथानों पर या तो मालिकों, किसी पार्टी या नेता या विज्ञापनदाताओं का वर्चस्व हो गया है. इस दौर में जनसरोकार के सवाल ओझल हो गए हैं और प्रायोजित या पेड या फेक न्यूज का असर गहरा गया है. कारपोरेट, विज्ञानपदाताओं और सरकारों पर बढ़ती निर्भरता के कारण मीडिया की स्वायत्त निर्णय लेने की स्वतंत्रता खत्म सी हो गयी है.न्यूजविंग इस चुनौतीपूर्ण दौर में सरोकार की पत्रकारिता पूरी स्वायत्तता के साथ कर रहा है. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि इसमें आप सब का सक्रिय सहभाग और सहयोग हो ताकि बाजार की ताकतों के दबाव का मुकाबला किया जाए और पत्रकारिता के मूल्यों की रक्षा करते हुए जनहित के सवालों पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाए. हमने पिछले डेढ़ साल में बिना दबाव में आए पत्रकारिता के मूल्यों को जीवित रखा है. इसे मजबूत करने के लिए हमने तय किया है कि विज्ञापनों पर हमारी निभर्रता किसी भी हालत में 20 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो. इस अभियान को मजबूत करने के लिए हमें आपसे आर्थिक सहयोग की जरूरत होगी. हमें पूरा भरोसा है कि पत्रकारिता के इस प्रयोग में आप हमें खुल कर मदद करेंगे. हमें न्यूयनतम 10 रुपए और अधिकतम 5000 रुपए से आप सहयोग दें. हमारा वादा है कि हम आपके विश्वास पर खरा साबित होंगे और दबावों के इस दौर में पत्रकारिता के जनहितस्वर को बुलंद रखेंगे.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: