न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

266 पुलिसकर्मियों के भरोसे रांची का ट्रैफिक विभाग

मैनपावर की कमी से जूझ रहा है यातायात पुलिस विभाग

144

Ranchi : राजधानी रांची में यातायात पुलिस विभाग मैन पावर की कमी से जूझ रहा है. यातायात पुलिस विभाग में मैन पावर की कमी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जहां 682 पुलिसकर्मी और अधिकारी की जरूरत है, वहां सिर्फ 266 पुलिसकर्मी ही काम कर रहे हैं. यातायात पुलिस विभाग में लंबे अरसे से पर्याप्त बल ना होने के बावजूद भी यातायात व्यवस्था को संभालने में लगा हुआ है. मैन पावर की कमी के चलते ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को दो शिफ्ट में काम करनी पड़ रही है.

इसे भी पढ़ें- कल्याण विभाग में सुनील कुमार का इतना है दबदबा, कार्रवाई के लिए मंत्री को सचिव को लिखनी पड़ी चिट्ठी

एक लाख वाहनों के लिए चौराहे पर मात्र छह पुलिसकर्मी

राजधानी रांची की सड़कों पर चलने वाले एक लाख वाहनों के लिए प्रत्येक पोस्ट पर महज छह पुलिसकर्मी ड्यूटी दे रहे हैं. जबकि शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर हर घंटे दस हजार वाहन गुजरते हैं. यह आंकड़ा ट्रैफिक पुलिस की ओर से किए गए सर्वे का है. आंकड़े के अनुसार सुबह 10 बजे से रात के 8 बजे तक चलने वाले वाहनों की संख्या एक लाख पहुंचती है. लेकिन यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रमुख चौक-चौराहों पर महज पांच सिपाही और एक सफाईकर्मी की तैनाती रहती है. ऐसे में जाम से निजात दिला पाना मुश्किल साबित हो रहा है.

इसे भी पढ़ें- News Wing Impact: कसमार के सिंहपुर कॉलेज में नहीं मिला विधायक मद से बना भवन

एक साथ चार रास्तों के लिए ग्रीन हो जाता है सिग्नल लाइट

राजधानी की ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने के लिए लगी हुई. सिग्नल लाइट एक साथ चार रास्तों के लिए ग्रीन हो रही है. आधे से अधिक सिग्नल ठप पड़े हुए हैं. कई जगहों की सिग्नल टूट चुके हैं. शहर के सर्वाधिक जाम लगने वाली जगह कांटाटोली, बहू बाजार, रातू रोड न्यू मार्केट, पिस्का मोड़, जेल चौक, सुजाता चौक आदि जगहों पर ट्रैफिक हाथ के सहारे संचालित किया जा रहा है. सिग्नल लाइट एक साथ चार रास्तों के लिए ग्रीन हो रही है. जिसके चलते लोग आगे बढ़ जाते है उसे पुलिस उसे पकड़ लेती है .इस खराब ट्रैफिक सिग्नल के वजह से रांची की ट्रैफिक पुलिस लाखों रुपये का जुर्माना आम लोगों से वसूल चुकी है. ठप ट्रैफिक सिग्नल के बावजूद सिग्नल ब्रेक के फाइन काटे गए हैं. यहां ट्रैफिक सिग्नल केवल खानापूर्ति के लिए लगे हैं.

इसे भी पढ़ें- डस्टबिन लगाने के बहाने खाया कमीशन ! जनता के 21 लाख निगम ने किये बर्बाद

ट्रैफिक सिग्नल में अक्सर पीला लाइट

रांची नगर निगम के द्वारा शहर में 21 स्थलों पर लगाए गए ट्रैफिक सिग्नल को दुरुस्त कराया है. ताकि यातायात की सुगम व्यवस्था को स्थापित किया जा सके, जबकि ट्रैफिक पुलिस खासकर सुजाता चौक, कांटाटोली चौक, किशोरगंज चौक, न्यू मार्केट चौक और सहजानंद चौक पर हाथ के इशारे से ही ट्रैफिक को नियंत्रित करने में कारगर है. इन मार्गों पर ट्रैफिक लोड बढ़ते ही ट्रैफिक पुलिस मैन्युअल स्विच के माध्यम से ट्रैफिक सिग्नल को बंद कर देते हैं. जिसके परिणामस्वरूप इन स्थलों पर दिनभर ट्रैफिक सिग्नल का पीला लाइट जलता रहता है और ट्रैफिक पुलिस हाथ के इशारे से ट्रैफिक को नियंत्रित करने में परेशान रहती है.

इसे भी पढ़ें- रावण दहन : सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कम होगी आतिशबाजी

 यातायात पुलिस विभाग में वर्तमान पुलिसकर्मी

पद चाहिए                  वर्तमान

एसपी  01                     01

डीएसपी 02                   02

सार्जेट मेजर 02             00

इंस्पेक्टर 04                 04

सार्जेट 06                    02

दारोगा 07                   02

हवलदार 122              28

सिपाही 517               191

चालक 05                  04

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: