Crime NewsJharkhandRanchi

जमीन विवाद के चलते अगस्तस कच्छप ने चलवायी थी दिलीप पर गोली

Ranchi : ध्रुवा सिंचाई कॉलोनी के जमीन कारोबार दिलीप पोद्दार की हत्‍या की साजिश तीन माह पहले बन गयी थी. पुलिस ने इस घटना में शामिल मुख्‍य साजिशकर्ता अगस्‍तस कच्‍छप समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. आपकों बता दें कि दिलीप पोद्दार को 3 दिसंबर को घर के बाहर बुला कर  गोली मारी गयी थी. गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ के दौरान अपनी संलिप्‍ता स्वीकार कर ली है. वहीं मुख्य साजिशकर्ता अगस्तस कच्छप ने दिलीप पोद्दार को मारने के लिए शूटर को सुपारी दिए जाने की बात भी पुलिस के सामने कबूल कर ली है.

जमीन विवाद और प्रेम प्रसंग को लेकर हत्‍या की बनी थी योजना

मुख्य साजिशकर्ता अगस्तस कच्छप ने पुलिस को बताया है, वह कि दिलीप पोद्दार के साथ छह महीने पहले साथ मिलकर जमीन का कारोबार करते थे. नगड़ी, कैंबो और बालालौंग में कई जगहों पर दोनों साथ मिलकर जमीन का कारोबार किया. इसी बीच एक जमीन को लेकर दोनों के बीच 15 लाख रुपए को लेकर विवाद हो गया था. जिसके बाद दोनों अलग-अलग काम करने लगे. मिली जानकारी के मुताबिक अगस्तस कच्छप के भतीजी और दिलीप पोद्दार के बीच प्रेम प्रसंग चलने लगा था. अगस्तस कच्छप को यह खराब लगा. जिसके बाद अगस्तस कच्छप ने तीन महीने पहले ही दिलीप पोद्दार को मारने की योजना बनायी थी. दिलीप को मारने के लिए आनंद, विजेंद्र और करण नाम के शूटरों को सुपारी दी थी.

ram janam hospital
Catalyst IAS

पहले भी दिलीप को मारने की गयी थी कोशिश

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

दो माह पहले भी कच्‍छप के शूटरों ने दिलीप को मारने की कोशिश की थी, लेकिन सफल नहीं हो पाये. जिसके बाद 3 दिसंबर सोमवार की शाम आनंद और विजेंद्र ने दिलीप पोद्दार को मारने की योजना बनाई. विजेंद्र ने फोन कर दिलीप पोद्दार को घर से बाहर आने के लिए कहा, जैसे ही दिलीप घर से बाहर निकला, पांच गोलियां दिलीप पर चलायी गयी. गोली मारने के बाद सभी बालालौंग की ओर भाग निकले. दिलीप ने राज हॉस्पिटल में पुलिस को दिए बयान में कहा था, कि अगस्तस कच्छप, सूरज सिंह, करण महली, नारायण महली, सुमित कच्छप और विजेंद्र मुझे मारना चाहते हैं.

सभी लोगों की गिरफ्तारी के बाद ही होगा मामले का खुलासा

दिलीप कुमार के ऊपर गोली चलने के मामले में जब सिटी एसपी सुजाता वीणापानी से बात की गयी, तो उन्होंने कहा दिलीप कुमार के ऊपर जमीन विवाद और कुछ निजी बातों को लेकर गोली चली थी. इसके मुख्य साजिशकर्ता अगस्त कच्छप समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मामले में अभी और कुछ लोगों की गिरफ्तारी होनी बाकी है. घटना में शामिल सभी लोगों की गिरफ्तारी के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पायेगा.

इसे भी पढ़ेंःनक्शा पास करने को लेकर आरआरडीए और जिला परिषद आमने-सामने

इसे भी पढ़ेंःकड़ाके की ठंड में गरीबों को नहीं मिलेगा कंबल, जिलों में कंबल का…

Related Articles

Back to top button