Education & CareerRanchi

डीएसपीएमयू विश्वविद्यालय की पहचान क्वांटिटी नहीं क्वालिटी देने की बने: प्रो तपन कुमार शांडिल्य

Ranchi: शिक्षा और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में अंतर है. नई शिक्षा नीति गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और खुशी है कि विश्वविद्यालय समय से आगे चलते हुए राज्य को लीड कर रहा है.” यह कहना है कुलपति प्रो तपन कुमार शांडिल्य का.डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय के डिपार्टमेंट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर ( ELL ) में बी ए ( ऑनर्स ) 2022 -2025 सेशन के इंडक्शन प्रोग्राम के दौरान सम्बोधित करते हुए उन्होंने यह बातें कहीं.उन्होंने कहा कि “आने वाले समय में विभाग के पास अपनी लाइब्रेरी और लैंग्वेज लैब होंगे।”

इसे भी पढ़ें: जमानत के बाद पूर्व मंत्री योगेन्द्र साव निकले जेल से बाहर, पिता को लेने होटवार पहुंची अंबा

इस मौके पर उपस्थित विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार डॉ नमिता सिंह ने कहा कि ” भाषा और साहित्य का तालमेल जीवन में लय और समाज में आकर्षण पैदा करता है. छात्रों को विषय में गहरे में जाकर अपने भविष्य की संभावनाएं तलाशनी है.अनेक संभावनाओं के द्वार खोलने वाला इस कोर्स में नामांकन करने के लिए शुभकामनाएं. ” वहीं DSW डॉ अनिल कुमार ने कहा कि “यह विभाग वक्त के साथ साथ अपने अनुशासन से विश्वविद्यालय के लिए एक एसेट बन चुका है.” कॉर्डिनेटर डॉ विनय भरत ने कहा कि विभाग आने वाले समय में अंग्रेज़ी के मार्फ़त राज्य के सभी क्षेत्रीय भाषाओं को जोड़ने का काम करेगा. कुछ रीजनल साहित्य को ट्रांसलेट करने की कवायद शुरू भी हो चुकी है. साथ ही साथ विभाग में बेटियों के लिए सैनिटरी पैड्स की भी व्यस्था की रिक्वेस्ट कुलपति से किया ,जिसे कुलपति ने अनुमोदन दिया.

कार्यक्रम के द्वितीय सत्र के सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत विभाग के शिक्षक कर्मा कुमार और विनय भरत ने की. झारखण्ड की पोस्टर गीत ” ऊंचा नीचा पहाड़ पर्वत नदी नाला,” को अंग्रेजी में अनुवाद कर दोनों ने साथ में रेन्डिशन ( गायकी और वाचन ) किया.राँची विश्वविद्यालय के म्यूज़िक और फाइन आर्ट्स के असिस्टेंट प्रोफेसर मनीष कुमार ने ग़ज़ल ” चुपके चुपके रात दिन आंसू बहाना याद है ” से कार्यक्रम की शुरुआत की और कारवां ओल्ड बॉलीवुड ” चौदहवीं का चांद हो या आफ़ताब हो ” पर खत्म हुआ। तालियों की जोरदार तालियों के बीच कार्य्रकम राष्ट्रगान पर खत्म हुआ.

कार्यक्रम का संचालन विभाग की शिक्षिका शुभांगी रोहतगी और शिक्षक कर्मा कुमार ने किया. शिक्षक सौरभ मुखर्जी और शिक्षिका श्वेता गौरव, अत्रेयो मुखर्जी और गौतम कुमार ने साउंड और एकॉस्टिक की एडिटिंग की और रिसोर्स पर्सन रंजन कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन किया. छात्रों की ओर से क्लास प्रतिनिधि मानसी विश्वास , सामिया, प्राची सिंह,ग्लैड केरकेट्टा, शिवाजी मिंज, ओंकार ने कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष भूमिका निभाई।

Related Articles

Back to top button