न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिग्विजय सिंह का सिद्धू पर तंजः अपने ‘इमरान भाई’ को समझाइए

783

New Delhi: पुलवामा आतंकी हमले पर दिये अपने बयान को लेकर पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की फजीहत कम होने का नाम नहीं ले रहीं. विरोधी पार्टियों की ओर से आलोचना का सामना कर रहे सिद्धू को अब अपनी ही पार्टी के नेताओं की खरी-कोटी सुननी पड़ रही है. कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने उनपर निशाना साधा है. उन्होंने सिद्धू पर तंज कसते हुए मंगलवार को कहा कि ‘सिद्धू जी, अपने इमरान भाई को समझाइए क्योंकि उसकी वजह से ही आपको गाली पड़ रही है.’ दिग्विजय सिंह ने यह भी कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को अपने देश में मौजूद आतंकवादियों हाफिज सईद और मसूद अजहर को भारत के सुपुर्द कर देना चाहिए.

‘कश्मीरियों के साथ कश्मीर चाहते हैं?’

सिद्धू पर तंज कसने के साथ ही दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘क्या हम एक भारतीय के तौर पर निर्दोष कश्मीरी छात्रों और व्यापारियों का उत्पीड़न रोक नहीं सकते? क्या हम कश्मीरियों सहित कश्मीर चाहते हैं या कश्मीरियों के बिना कश्मीर चाहते हैं? एक राष्ट्र के तौर पर हमें यह तय करना होगा.’

सिंह ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि मोदी भक्त मुझे ट्रोल करेंगे, लेकिन मुझे इसकी परवाह नहीं है. एक क्रिकेटर के तौर पर मैं इमरान खान की सराहना करता हूं. पर मुझे यह विश्वास नहीं होता कि वह इन मुस्लिम कट्टरपंथियों और आईएस प्रायोजित आतंकवादी समूहों से निपट नहीं सकते.’

इमरान को नसीहत

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पाकिस्तान के प्रधानमंत्री, आप हिम्मत दिखाइए और आतंकवाद के गुनाहगारों हाफिज सईद और मसूद अजहर को भारत के सुपुर्द कर दीजिये. ऐसा करने से आप सिर्फ पाकिस्तान को वित्तीय संकट से ही बाहर नहीं निकलेंगे, बल्कि नोबेल शांति पुरस्कार के प्रबल दावेदार भी जाएंगे.’ सिद्धू पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, ‘ नवजोत सिंह सिद्धू जी, आप अपने दोस्त इमरान भाई को समझाइए. उसकी वजह से आपको गाली पड़ रही है.’

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी से प्रतिक्रिया लेने पर उन्होंने कहा कि, ‘इस देश में सभी को बोलने की आजादी है, लेकिन सार्वजनिक जीवन में जो भी है, चाहे वह कांग्रेसी है या गैरकांग्रेसी है, उस व्यक्ति को देश की भावना के अनुरुप बोलना चाहिए. मुझे नहीं लगता कि किसी को भी देश की भावना के खिलाफ जाकर बोलने का कोई अधिकार है.’

क्या कहा था सिद्धू ने

गौरतलब है कि पंजाब सरकार में मंत्री सिद्धू ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा था कि कुछ लोगों की करतूत की वजह से किसी एक देश को जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं है. उन्होंने यह भी कहा था कि हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए. उनके इस बयान को लेकर विरोधी पार्टियों के साथ-साथ देशवासियों में भी जबरदस्त गुस्सा है.

सिद्धू के बयान के बाद उनके इस्तीफे की मांग ने भी जोर पकड़ा था. वहीं द कपिल शर्मा शो से बाहर करने की भी जोरदार मांग हुई थी. लोगों की भावनाओं को देखते हुए शो के प्रोड्यूसर ने उन्हें बाहर का रास्ता भी दिखा दिया है. हालांकि इसके लिए कारण कुछ और बताया जा रहा है. वहीं अब सिद्धू का स्पोर्ट करने के कारण कपिल शर्मा भी लोगों के निशाने पर आ गये हैं.

इसे भी पढ़ेंः पटना हाईकोर्ट का फैसलाः पूर्व मुख्यमंत्रियों को नहीं मिलेगी आजीवन सरकारी आवास की सुविधा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: