JharkhandRanchi

3 मेडिकल कॉलेज और एक प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के बावजूद स्टूडेंट्स का करियर दांव पर, रघुवर दास ने राज्यपाल से की पहल करने की अपील

Ranchi : राज्य के 3 मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन नहीं हो रहा है. इस संबंध में पूर्व सीएम रघुवर दास ने शनिवार को राज्यपाल से मुलाकात कर पहल करने की अपील की. कहा कि राज्य में 3 मेडिकल कॉलेज बन कर तैयार हैं.

राज्य सरकार को कुछ शर्तों को पूरा करना है, जिससे यहां नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो सकती है. लेकिन पिछले 1 साल में राज्य सरकार ने इस दिशा में कोई काम नहीं किया है. इससे झारखंड के बच्चों का भविष्य अधर में है.

उन्हें इनमें एडमिशन नहीं मिल पा रहा. इसी तरह जमशेदपुर में एक प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी बन कर तैयार है. इसका उद्घाटन भी हो चुका है. पर एक साल बीतने के बावजूद इसमें एडमिशन की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पायी है. यहां जॉब ओरिएंटेड कोर्स और कौशल विकास से जुड़े पाठ्यक्रम चलाये जाने हैं. इसका उपयोग नहीं होने से स्टूडेंट्स को नुकसान हो रहा.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें- विशेषज्ञों का अनुमान : चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 7.5 प्रतिशत रहेगा

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

ओरमांझी केस पुलिस की नाकामी

राज्यपाल से मुलाकात में रघुवर दास ने कहा कि राज्य में महिला कॉलेजों का भी उपयोग हो. इसके लिए पद सृजित कर भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाये. इससे कॉलेजों का भवन बन कर तैयार होते ही पाठ्यक्रम शुरू कराया जा सकेगा.

श्री दास ने ओरमांझी में पिछले दिनों हुए बलात्कार और हत्याकांड के मामले में राज्य पुलिस को पूरी तरह से नाकाम बताया. कानून व्यवस्था की स्थिति यह है कि राजभवन भी सुरक्षित नहीं है. इसकी दीवारों पर भी नक्सली पोस्टर चिपका कर जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- महाराष्ट्र: भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत, शॉर्ट सर्किट का संदेह

नामांकन के लिए छूट देने का आग्रह

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से भी झारखंड में मेडिकल कॉलेज में नामांकन के लिए छूट देने का आग्रह किया गया है. राज्य के मेडिकल छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल रघुवर दास से शनिवार को मिला. इस पर उन्होंने केंद्रीय मंत्री से फोन पर बात की.

कहा कि राज्य में तीन मेडिकल कॉलेजों में राज्य सरकार की चूक के कारण नेशनल मेडिकल कमीशन ने नामांकन की अनुमति नहीं दी है. इससे झारखंड के छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है. विशेष परिस्थिति में झारखंड के छात्रों के लिए यह छूट दी जाये. इससे तीनों मेडिकल कॉलेज में 100-100 सीटों के लिए नामांकन हो सकेगा.

इसे भी पढ़ें- RIMS में लालू प्रसाद से मिले आरजेडी नेता, स्वास्थ्य को लेकर जतायी चिंता

Related Articles

Back to top button