National

Cyclone Nisarga का महाराष्ट्र-गुजरात पर साया: तूफान ने पकड़ी रफ्तार, हाई टाइड का अलर्ट

Mumbai: महाराष्ट्र के लिए आज यानी 3 जून का दिन भारी है. अनुमान जताया जा रहा है कि दोपहर तक निसर्ग पालघर और मुंबई में समुद्र तट पर दस्तक देगा. चक्रवाती तूफान तकरीबन 120 KMPH की स्पीड से टकराने वाला है.

इस दौरान समुद्र में 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं.  मौसम विभाग ने मुंबई में हाई टाइड के आने की संभावना जताई है. मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार रात करीब 9:48 बजे मुंबई में हाई टाइड की चेतावनी दी गयी है.

महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि गुजरात, दमन और दीव में भी निसर्ग का असर

फिलहाल मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान के हवा की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच चुकी है. तूफान ने स्पीड पकड़ ली है और इसे देखते हुए हाइटाइड का अलर्ट जारी कर दिया गया है.

advt

सिर्फ महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि गुजरात, दमन और दीव के कई क्षेत्रों में भी चक्रवात निसर्ग का असर देखने को मिल रहा है. इन जगहों पर भी तेज हवा और बारिश हो रही है. हर जगह पर पुलिस और NDRF की टीमें तैनात हैं. टीम लोगों को तटीय इलाकों से हटाने का काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें- दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन को बताया मास्टरमाइंड, एक करोड़ 10 लाख खर्च करने का भी आरोप

सुपर साइक्लोन में बदला चक्रवात

पहले ही महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप है. देश में सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र से ही आये हैं. वहीं सबसे अधिक मरीजों की मौत भी महाराष्ट्र में ही हुई है. वहीं अब कोरोना के बाद यहां चक्रवात निसर्ग का भी साया छा गया है. चक्रवात सुपर साइक्लोन में बदल रहा है. मुंबई के अलीबाग में दोपहर एक बजे से चार बजे के बीच निसर्ग का लैंडफॉल होना है.

यहां पहले से ही तेज हवा और बारिश हो रही है. और अब यह धीरे-धीरे बारिश और हवा तेज होती जा रही है. गेटवे ऑफ इंडिया के पास हवाएं इतनी तेज थीं कि पुलिस की बैरिकेडिंग भी गिर गयी. वहीं चक्रवात के असर को देखते हुए लोगों से घरों में ही रहने की बात कही गयी है. इसके अलावा मुंबई के वर्सोवा इलाके में भी तेज बारिश हो रही है और पुलिस-NDRF की टीमें लगातार लोगों को हटा रही हैं.

adv

ट्रेनों के बदले गये समय और मार्ग

इसमें कहा गया है कि बदलाव के बाद एलटीटी- गोरखपुर विषेष अब सुबह 11 बजकर 10 मिनट की बजाय रात आठ बजे रवाना होगी. एलटीटी- तिरुवनंतपुरम विशेष सुबह 11 बजकर 40 की बजाय शाम छह बजे और एलटीटी-दरभंगा विशेष दोपरह सवा 12 की बजाय रात साढ़े आठ बजे रवाना होगी.

इसके अलावा एलटीटी-वाराणसी विशेष दोपहर 12 बजकर 40 मिनट की बजाय रात नौ बजे और सीएसएमटी-भुवनेश्वर विशेष दोपहर तीन बजकर पांच मिनट की बजाय रात आठ बजे छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से रवाना होगी.

सीआर ने कहा कि बुधवार को सुबह साढ़े 11 बजे आने वाली पटना-एलटीटी विशेष और दोपहर सवा दो बजे आने वाली वाराणसी-सीएसएमटी विशेष के मार्ग को बदला जाएगा और वे समय से पहले यहां पहुंचेंगी.

कहा गया है कि चार बजकर 40 मिनट पर आने वाली तिरुवनंतपुरम-एलटीटी विशेष का मार्ग पुणे से परिवर्तित किया जाएगा और वह लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) पर समय से पहले पहुंचेगी.

इसे भी पढ़ें- सरकारी बैंकों का होगा निजीकरण? मोदी सरकार नीति आयोग के प्रस्ताव पर कर रही विचार !  

हवाई अड्डे, बंदरगाह पर बचाव के उपाय

मुंबई पर समुद्री चक्रवात के खतरे को देखते हुए महानगर के हवाईअड्डे और बंदरगाहों पर अधिकारियों ने सुरक्षा के विषेश प्रबंध किए हैं. मुंबई हवाई अड्डे की परिचालक कंपनी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (मायल) ने कहा कि चक्रवात के खतरे को देखते हुए उसने यात्रियों और हवाई जहाजों की सुरक्षा के लिए वहां अनेक प्रबंध किये हैं.

मुंबई एयरपोर्ट से बुधवार को केवल 19 फ्लाइट्स का परिचालन होगा. जिनमें 8 लैंड करेंगी, जबकि 11 टेकऑफ. हालांकि, रोजाना 50 विमान का यहां से परिचालन होता है.

नागर विमानन महानिदेशालय ने भी एक सर्कुलर जारी करके एयरलाइनों और पायलटों को खराब मौसम में विमान सेवाओं के परिचालन के संबंध में स्थायी दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा है. हवाई अड्डे पर बिजली की आपातकालीन व्यवस्था के लिए डीजल जनरेटरों का विशेष प्रबंध किया गया है.

इसे भी पढ़ें- CoronaUpdate: सिमडेगा से मिले आठ कोरोना मरीज, झारखंड में संक्रमितों की संख्या हुई 736

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button