Corona_UpdatesDhanbad

#CoronaLockdown : सड़ने लगे हैं फल, लॉकडाउन के कारण घर नहीं जा पा रहे ट्रक चालक

Dhanbad : लॉकडाउन के कारण धनबाद के कृषि बाजार समिति में फल सड़ने लगे हैं. लॉकडाउन के कारण लोगों का घरों से बाहर निकलने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है. इसके साथ ही एनएच टू पर कई ट्रकों के चालक फंसे हुए हैं. ये चालक यूपी व अन्य प्रदेशों से फल लेकर धनबाद पहुंचे हैं और फल नहीं उतारे जाने के कारण ये लोग कई दिनों से धनबाद में फंसे हुए हैं. जिससे इन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें – #CoronavirusOutbreak: DGP ने सभी SP व DIG के साथ की बैठक, कम्युनिटी किचन को प्रभावी बनाने का निर्देश

जल्द नहीं हुआ समस्या का समाधान, तो हार जायेंगे हिम्मत

ट्रक में माल लेकर आये वाहन चालकों ने अपनी परेशानी बताते हुए कहा कि वह लॉकडाउन के कारण फंस गये हैं. अब वे लोग अपने राज्य वापस नहीं जा पा रहे हैं. अचानक उनके सामने विषम परिस्थिति उत्पन्न हो गयी है. सड़क पर किसी प्रकार वे लोग इस स्थिति से संघर्ष कर रहे हैं. जल्द ही उनकी समस्या का निदान नहीं हुआ, तो वे हिम्मत हार जायेंगे. ऐसे में स्थानीय प्रशासन को उनके लिए पहल करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें – #Palamu: राशन की होम डिलीवरी के दावे की खुली पोल, वितरण व्यवस्था में कई परेशानियां, दुकानदार परेशान 

ट्रकों में ही बना रहे हैं भोजन, रख रहे हैं सुरक्षा का ख्याल

धनबाद से बाहर जाने के इंतजार में बरवाअड्डा कृषि बाजार समिति के आसपास दर्जन से ज़्यादा  ट्रक खड़े हैं. इस कारण चालक एवं क्लीनर करीब 50 से अधिक लोग परेशान हैं. कोरोना से संकट के समय में फंसे हुए ट्रक चालक व क्लीनरों के परिवार भी चिंतित हैं.

परिवार के लोग दूर से बैठे-बैठे ही कोरोना से बचाव के लिए सलाह दे रहे हैं. सावधानियां बरतने को कह रहे हैं. ट्रक चालक व क्लीनर ट्रकों में ही भोजन बना रहे हैं. इसमें ही सो रहे हैं. कोरोना से बचाव के लिए जो आवश्यक उपाय है, वह भी कर कर रहे हैं.

कुछ ट्रांसपोर्ट संचालकों ने चालकों व क्लीनरों के लिए ठहरने की व्यवस्था भी की है. लेकिन अधिकांश ट्रांसपोर्टर ने अपनी दुकानें बंद कर दी हैं, जिससे दूसरे राज्यों से आये ट्रक चालक को अब यहां से भाड़ा नहीं मिल रहा है और न यहां से निकलने को मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें – 10 साल से लड़कियों को फुटबॉल सीखा रहे फ्रांज हुए बेघर, लोगों ने रात के वक्त परिवार संग गांव से निकाला

सात दिन पहले पहुंचे थे धनबाद, अब सता रही है भुखमरी की आशंका

इटावा से ट्रक लेकर 18मार्च को चले ट्रक ड्राइवर आलीफ के अनुसार, उसको धनबाद पहुंंचे सात दिन हो गये हैं. वह ट्रांसपोर्टर के बुलावे पर वह धनबाद पहुंचा था. लेकिन जब वह धनबाद पहुंचा और भाड़े की तलाश में था, लेकिन तब तक देश में लॉकडाउन की घोषणा हो गयी.

अब स्थिति यह है कि भाड़ा मिलना तो दूर ट्रांसपोर्टर ने भी दुकान बंद कर दी है और अब भूखमरी जैसी स्थिति बन आयी है. आरीफ ने बताया कि सामान खरीदने जाते हैं तो दुकानदार ज्यादा कीमत वसूलते हैं. दूसरी तरफ पुलिस का भी भय सताता रहता है.

सुरक्षा कारणों से भी चिंतित हैं ट्रक चालक

एनएच टू पर खड़े कुछ ट्रकों में सामान भरा हुआ है. इस कारण ट्रक चालक व क्लीनरों को सामान की भी सुरक्षा करना पड़ रही है. वे रात में भी सो नहीं पा रहे हैं. उनका कहना है कि ट्रक में सामान खाली करने के लिए प्रशासन थोड़ी राहत दे तो बेहतर होगा. उन्होंने बताया कि अगर जल्द ही ट्रकों के सामान खाली नहीं किये गये, तो ट्रक में रखे सामान खराब हो जायेंगे.

इसे भी पढ़ें –  SAI का पदमा सेंटर भी #Corona मुकाबले को तैयार, 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनकर तैयार

नवरात्र को देखते हुए की थी फलों की खरीदारी, अब उम्मीदों पर फिरने लगा है पानी

दूसरी तरफ कृषि बाजार समिति में कुछ व्यवसायी को फल खराब होने और उसमें लगी पूंजी के डूब जाने की चिंता सता रही है. फल व्यवसायी ने बताया कि चैत्र नवरात्र को देखते हुए उन्होंने फलों की खरीदारी की थी. लेकिन लॉकडाउन की स्थिति उत्पन्न होने से सारा माल गोदाम में ही रह गया है. अपेक्षित बिक्री नहीं हो सकी है. जिससे पूंजी के डूबने की आशंका उनको परेशान कर रही है.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown21: कोरोना से लड़ाई के लिए CM हेमंत सोरेन ने दिये 25 लाख रुपये, लोगों से मदद की अपील

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close