DumkaHEALTHJharkhandLead NewsRanchi

निर्माणाधीन फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल भवन का कार्य अगले 15 दिनों के अंदर हो पूरा : हेमंत सोरेन

अस्पताल के प्रिंसिपल, सिविल सर्जन, मेडिकल सुपरिटेंडेंट और चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने की बैठक

Ranchi : दुमका दौरे में पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल (सदर अस्पताल) में बन रही बिल्डिंग का निर्माण कार्य अगले 15 दिनों के अंदर पूरा करने का निर्देश दिया है. उन्होंने यहां की व्यवस्था अविलंब दुरुस्त करने का निर्देश भी अस्पताल प्रबंधन को दिया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर यहां की व्यवस्था में किसी तरह की खामी होने की शिकायत मिलती है तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

मंगलवार को मुख्यमंत्री फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल की व्यवस्था को लेकर प्रिंसिपल, सिविल सर्जन मेडिकल सुपरिटेंडेंट और अन्य चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे. बता दें कि मुख्यमंत्री ने सोमवार देर रात को भी यहां का औचक निरीक्षण कर अव्यवस्थाओं को लेकर नाराजगी जाहिर की थी.

ड्यूटी के दौरान गायब रहने वालों पर होगी कार्रवाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें लगातार शिकायतें मिल रही हैं कि यहां पदस्थापित चिकित्सक एवं कर्मी ड्यूटी के दौरान गायब रहते हैं. इससे मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी चिकित्सक और पारा मेडिकल कर्मी बायोमेट्रिक अटेंडेंस बनाना सुनिश्चित करें. इसके अलावा रोस्टर के हिसाब से लगाई गई ड्यूटी का हर हाल में पालन करें. अगर उनके ड्यूटी आवर के दौरान गायब रहने की शिकायत मिलती है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ें : हाल ए पार्किंग: मेन रोड की कॉमिर्शियल बिल्डिंग में पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था नहीं, आखिर कैसे मिलेगी जाम से मुक्ति

जर्जर दरवाजा, खिड़की व बिजली की वायरिंग को व्यवस्थित और सुरक्षित करने का निर्देश

हेमंत ने अस्पताल प्रबंधन से यह भी कहा कि परिसर की साफ सफाई के लिए पुख्ता व्यवस्था करें. मुख्यमंत्री ने अस्पताल की बिल्डिंग में सीपेज को दूर करने जर्जर दरवाजा और खिड़की की मरम्मत तथा बिजली की वायरिंग को व्यवस्थित और सुरक्षित करने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि सोमवार रात अस्पताल के औचक निरीक्षण के दौरान चिकित्सक ड्यूटी के दौरान एप्रन नहीं पहने हुए थे. इससे पता ही नहीं चलता है कि वे चिकित्सक है या और कोई.

उन्होंने चिकित्सकों को स्पष्ट निर्देश दिया कि वे ड्यूटी के दौरान एप्रन जरूर पहनें. मुख्यमंत्री ने इलाज के लिए सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए उपकरणों के इस्तेमाल नहीं होने पर भी नाराजगी जताई और कहा कि इसे इंस्टॉल किया जाए ताकि मरीजों को इसका फायदा मिल सके.

इसे भी पढ़ें :एक्ट्रेस कंगना रनौत ने दिखायी दरियादिली, जानिये किन्हें गिफ्ट किये 4 करोड़ के लग्जरी फ्लैट्स

Related Articles

Back to top button